job recruitment in delhi april 2017

पूर्णिया पूर्व (पूर्णिया)। प्रखंड के रानीपतरा स्थित अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में रोगी कल्याण समिति का बैठक किए बगैर ही अस्पताल की साफ-सफाई कर्मचारी को बदल दिया गया। मामले की जानकारी उस वक्त सामने आयी जब अस्पताल का सफाई कर्मी गीता देवी प्रतिदिन की तरह सोमवार को भी साफ-सफाई करने के लिए अस्पताल पहुंची तो अस्पताल में रह रहे लैब टेक्नीशियन सरिता कुमारी का पति सुनील कुमार के द्वारा सफाई कर्मी को काम करने से रोक दिया गया और कहा कि अब आप काम नहीं कर सकते हैं आपका टेंडर समाप्त हो चुका है। पूर्व से रह रहे स्वीपर गीता देवी पति सरयुग मल्लिक ने इस बात की जानकारी स्थानीय जिला पार्षद, मुखिया, सरपंच और रोगी कल्याण समिति के सभी सदस्यों को दिया। जिसके बाद स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने अस्पताल पहुंचकर मामले की छानबीन किया तो पता चला कि सुनील कुमार के द्वारा रोगी कल्याण समिति के दो सदस्यों को आंखों में धूल झोंक कर हस्ताक्षर करवा कर साजिश के तहत पूर्व से कार्यरत साफ सफाई कर्मी गीता देवी को हटाकर अपना नाम साफ सफाई कर्मी में लिखवा लिया है । जिसके बाद जिला पार्षद राजीव कुमार सिंह, मुखिया सफीना खातून व सरपंच गुंजन कुमारी ने पूर्णिया सिविल सर्जन और प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी से इस मामले की गंभीरता से जांच कर कानूनी कार्रवाई करते हुए सुनील कुमार पर अविलंब कानूनी कार्यवाही करने की मांग किया है अन्यथा इसके खिलाफ आंदोलन की भी बात कही है। उन्होंने बताया कि सुनील कुमार इस अस्पताल का कर्मचारी नहीं है। उनकी पत्नी अस्पताल में लैब टेक्नीशियन का कार्य कर रही है। अस्पताल में रहकर लोगों को गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह से गरीब को परेशान करना और गरीब के पेट में लात मारना किसी रूप से स्थानीय जनप्रतिनिधि बर्दाश्त नहीं करेगा।वहीं इस संबंध में रोगी कल्याण समिति के सदस्य चांदी सरपंच गुंजन कुमारी व बिनोद मेहता ने बताया कि पिछले दो वर्षों से अस्पताल प्रबंधक के द्वारा रोगी कल्याण समिति का बैठक का आयोजन नहीं किया गया है तो उस बीच किस आधार पर नया सफाई कर्मी का बहाली हो गया। इसकी जांच होनी चाहिए। वहीं इस संबंध में प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी डॉ टीसी प्रसाद ने बताया कि जिला स्वास्थ्य समिति के द्वारा सुनील कुमार को सफाई कर्मी के पद पर नियुक्त किया गया है। उन्होंने बताया कि पूर्व में काम कर रही सफाई कर्मी गीता देवी सही से काम नहीं कर रही थी इसलिए उन्हें हटाया गया है।