सीतापुर:जिलेके120प्राथमिकविद्यालयोंमेंबीएसएस्मार्टक्लासचलरहेहैं।बीएसएअजयकुमारकाकहनाहैकिस्मार्टक्लाससंचालितहोनेवालेविद्यालयोंमेंसबसेअधिक89स्कूलकसमंडाब्लॉकक्षेत्रकेहैं।गोंदलामऊक्षेत्रके14,बिसवांके8,खैराबादके5,मछरेहटाके3वसिधौलीकेएकविद्यालयमेंस्मार्टक्लाससंचालितकीजारहीहैं।बीएसएकादावाहैकिप्रदेशमेंसबसेअधिकस्मार्टकक्षाएंसंचालितकरनेवालाजिलासीतापुरहै,जहां120विद्यालयस्मार्टबनगएहैं।येसूचनाउन्होंनेशिक्षानिदेशककोअभीसातदिसंबरकोभेजीहै।बीएसएकेदावेपरदैनिकजागरणकीपड़ताल-

छात्रोंमेंइंप्रूवमेंटहोरहाहै..

गोंदलामऊकेप्राथ.विद्यालयलोखनापुरकीप्रधानाध्यापकअंजूमिश्राकाकहनाहैकिउनकेयहांकक्षा-एकमें23वदोमें20बच्चेहैं।वेऔरउनकीसहायकविनीतास्मार्टक्लासेजलेतीहैं।उनकाकहनाहै,इनबच्चोंकोहरदो¨हदी,गणितवअंग्रेजीकीशिक्षास्मार्टक्लासेजमेंप्रोजेक्टरपरदीजातीहै।इससेबच्चोंकीशिक्षामेंकाफीसुधारआयाहै।प्राथ.विद्यालयकुर्सीकीप्रधानाध्यापकसाइमापरवीनबतातीहैंकिस्कूलमेंकक्षा-एकमें40वदो32बच्चेहैं,जिनकीस्मार्टक्लासेजएक-एकघंटेचलतीहैं।बिजलीसमस्यासेप्रोजेक्टरपरकक्षाओंकासंचालनबाधितहोताहै।उद्देश्यनहींपूराकररहेस्मार्टक्लास

कसमंडाकेप्राथ.विद्यालयमरेलीकेप्रधानाध्यापकसुनीलकुमारकाकहनाहैकिउनकेयहांकक्षा-एकवदोकेबच्चोंकीस्मार्टक्लासेजप्रोजेक्टरवलैपटॉपकेजरिएसंचालितहोतीहैं,परशिक्षककेअभावमेंयेकक्षाएंउद्देश्यपूरानहींकरपारहीहैं।स्कूलमेंएकसहायकअध्यापकहैं।विद्यालयमेंकक्षा-एकमें57वदोमें32बच्चेहैं।बताया,स्मार्टक्लासेजमेंजोबच्चेकमजोरथेउनमेंकक्षा-दोके14वएकके17बच्चेहैंइन्हेंअतिरिक्तसमयदेकरशिक्षितकियागयाहै।ग्रामीणक्षेत्रमेंबिजलीकीअव्यवस्थासेस्मार्टक्लासेजप्रभावितहोरहीहैं।हमग्वारीमेंहैंभाई..

स्मार्टक्लासेजकीसूचीमेंकसमंडाकेप्राथ.विद्यालयकंडीमेंप्रधानाध्यापकममतायादवकानाम,मोबाइलनंबरदर्जहै।संपर्ककरनेपरममतानेबतायावेकंडीस्कूलमें2016सेनहींहैं।वेरेउसाक्षेत्रकेपूर्वमाध्यमिकविद्यालयग्वारीमेंसहायकअध्यापकहैं।