संतकबीरनगर:प्रधानमंत्रीआवासयोजनासेगांवोंकीतस्वीरबदलरहीहै।यहयोजनास्वयंकेपैसेसेमकानबनानेमेंअक्षमगरीबोंकेचेहरेपरमुस्कानबिखेररहीहै।तीनकिस्तोंमेंमिलनेवाली1.20लाखरुपयेगरीबपक्कामकानबनारहेहैं।एक-दोनहींअपितु16,855गरीबछप्परकीजगहअबपक्केमकानवालेहोगएहैं।

हौसलोंसेकमराशिमेंभीबनारहेमकान

बालू,ईंट,छड़केदामपहलेकीतुलनामेंकाफीबढ़गएहैं।इसकेअलावाराजमिस्त्रीप्रतिदिन500से550रुपयावमजदूर300से350रुपयेमजदूरीलेरहेहैं।महंगाईमेंदोकमरा,एकबरामदासहितएकमकानबनानेमेंकमसेकमदोलाखरुपयेकीलागतआएगी।जबकिइसयोजनासेप्रतिपीएमआवासकेलाभार्थीकेबैंकखातेमेंपहलीकिस्त40हजार,दूसरीकिस्त70हजाररुपयेवतीसरीकिस्त10हजारयानीकुल1.20लाखरुपयेभेजेजातेहैं।महंगाईमेंइतनीकमराशिसेआवासपूर्णरुपसेबनापानागरीबोंकेलिएकठिनहै।येअपनेहौसलेसेऔरगाय-भैंसआदिबेचकरइसेपूराकररहेहैं।सीडीओडा.बब्बनउपाध्यायनेकहाकिप्रधानमंत्रीआवासयोजनासेगांवोंकीतस्वीरबदलीहै।केंद्रवराज्यसरकारकीमंशासाकारहोरहीहै।यहगरीबोंकेलिएकल्याणकारीहै।तीनवित्तीयसत्रोंमेंबने16,855पीएमआवासवित्तीयसत्र:लक्ष्य:आवासबने:आवासअधूरे