26हजारलोगोंकीहुईमलेरियाजांच:सीएस

जागरणसंवाददाता,पाकुड़:सिविलसर्जनडा.रामदेवपासवाननेकहाकिमलेरियाकेप्रतिलोगोंकोजागरूककरनेकेलिएप्रतिवर्ष25अप्रैलकोविश्वमलेरियादिवसमनायाजाताहै।पाकुड़जिलेमेंलगभग26521व्यक्तियोंकीमलेरियाजांचकीगईहै।bसमें48पीवीऔर246पीएफरोगीमिलेहैं।वेशनिवारकोशहरीप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रमेंपत्रकारोंकोसंबोधितकररहेथे।सीएसनेकहाकिसर्वाधिकएक्टिवकेसलिट्टीपाड़ाप्रखंडमेंलगभग203पाएगएहैं।लिट्टीपाड़ाप्रखंडपरविशेषध्यानदियाजारहाहै।सरकारकीगाइडलाइनकेअनुसारमलेरियाकेएक्टिवकेसकीखोजसालमेंचारबारहोताहै,परंतुपाकुड़जिलेमेंपांचबारहोताहै।उन्होंनेकहाकिमलेरियाचारप्रकारकेहोतेहैं।प्लाजमोडियमफैल्सीपैरम,प्लाजमोडियमविवैक्स,प्लाजमोडियमओवले,प्लाजमोडियममेलैरी।भारतमेंमुख्यतःदोप्रकारकेमलेरियासेग्रसितरोगीपायाजाताहै।इसमेंप्लाजमोडियमफैल्सीपैरमएवंप्लाजमोडियमविवैक्सशामिलहै।

क्याहैमलेरिया

परजीवीप्लाजमोडियमसेफैलनेवालेरोगकोमलेरियाकहाजाताहै।इसकावाहकमादाएनाफिलीजमच्छरहोताहै।संक्रमितमादाएनाफिलीजमच्छरकेकाटनेसेयहरोगफैलताहै।10-12दिनोंकेबादउसव्यक्तिमेंमलेरियारोगकेलक्षणप्रकटहोजातेहैं।इसमेंठंडदेकरबुखारआना,उल्टीहोनायाउल्टीजैसालगना,शरीरमेंऐंठनएवंदर्द,सिरदर्द,चक्करआना,थोड़ीदेरमेंपसीनेकेसाथबुखारउतरजानाएवंफिरसेकुछसमयकेअंतरालपरबुखारआनाप्रमुखहै।

बचावकेसरलउपाय

मलेरियासेबचनेकेलिएसोतेसमयमच्छरदानीकाप्रयोगकरें।मलेरियाकेमच्छरसाफएवंठहरेहुएपानीमेंपनपतेहैं।घरकेआस-पासजलजमावनाहोनेदें।बड़ेजलजमाववालेक्षेत्रोंमेंकीटनाशक,किरोसहनयाजलाहुआमोबिलडालें।पानीकीटंकीएवंपानीजमाकरनेवालेसभीबर्तनोंकोढककररखें।घरकेछतपरअनावश्यकरूपसेऐसेसामाननारखें,जिनमेंबारिशकापानीजमाहो।सप्ताहमेंएकदिनफ्रिज,कूलर,फूलदानकापानीहटाकरअवश्यसूखालें।इसअवसरपरजिलाजनसंपर्कपदाधिकारीडा.चंदनएवंस्वास्थ्यविभागकेअधिकारीमौजूदथे।