जागरणसंवाददाता,धर्मशाला:बच्चेयुवाअवस्थामेंपहुंचनेपरअपनाआदर्शभीढूढ़तेहैं,लेकिनसहीमायनेमेंक्याउन्हेंवहआदर्शमिलपातेहैं।इसपरध्यानदेनेकीजरूरतहै।आदर्शपुरुषबननेकेलिएतपस्याभीजरूरीहै।मनुष्यमेंसंस्कारउसकेआचरणसेभीआतेहैं,लेकिनसंस्कारितबननेकेलिएगहनसाधनाकीभीजरूरतहै।संस्कारितबननेकेलिएपढ़ाईनहींबल्किहमाराव्यवहारकैसाहैयहजरूरीहै।व्यवहारअच्छाहोगातोहमारेसंस्कारभीअच्छेहोंगे।

हिमाचलप्रदेशकेंद्रीयविश्वविद्यालयधर्मशालाकेकुलपतिडॉ.कुलदीपचंदअग्निहोत्रीशुक्रवारकोस्कॉलरइंटरनेशनलस्कूलघुरकड़ीमेंदैनिकजागरणद्वाराआयोजितसंस्कारशालाके7वेंसंस्करणकेमेधावीविद्यार्थियोंकोसम्मानितकरनेकेबादसंबोधितकररहेथे।डॉ.अग्निहोत्रीनेकहाकिबच्चोंकाअधिकतरसमयउनकेअध्यापकोंकेबीचगुजरताहै।ऐसेमेंयहभीदेखनेवालीबातहैकिएकअध्यापकअपनेशिष्यकोकितनेसंस्कारदेताहै।बच्चेकेमाता-पिताभीउसेसंस्कारितकरनेमेंबड़ीकड़ीहैं,परंतुअच्छेसंस्कारवहीअध्यापक,माता-पितादेसकतेहैंजोखुदसंस्कारितहोंऔरअपनेसामाजिकदायित्वोंकोभीसमझतेहों।उन्होंनेमनपरनियंत्रणपाकरसंस्कारितहोनेकीवकालतकरतेहुएकहाकिक्रोध,लोभवलालचसेभरामनुष्यकभीभीसंस्कारितनहींहोसकताहै।उन्होंनेदैनिकजागरणकीसंस्कारशालाकोयुवापीढ़ीकेसाथसमाजकोसंस्कारोंकेप्रतिजागरूककरनेकीछेड़ीगईमुहिमकेलिएआभारजताया।

मुख्यअतिथिडॉ.कुलदीपचंदअग्निहोत्रीनेप्रथम,द्वितीय,तृतीयवसांत्वनापुरस्कारप्राप्तकरनेवालेप्रतिभागियोंकोसम्मानितकिया।दैनिकजागरणकेराज्यसंपादकनवनीतशर्मानेसंस्कारशालाकेउद्देश्योंवइसकीकार्यविधिकीजानकारीदी।जबकिदैनिकजागरणकेयूनिटप्रबंधकरणदीप¨सहनेसंस्कारशालाकेसफलआयोजनकेलिएसबकोधन्यवादकियाऔरइसमेंभागलेनेवालेवपुरस्कृतहोनेवालेविद्यार्थियोंकोबधाईदी।

कृतिकपूरनेकियामंचसंचालनस्कॉलरइंटरनेशनलस्कूलकीअध्यापिकाकृतिकपूरनेसम्मानसमारोहमेंमंचसंचालनकिया।उन्होंनेमंचसेदैनिकजागरणऔरसंस्कारशालाकेसंबंधमेंबहुतहीसहजढंगसेसबकोअवगतकरवाया।

संस्कारोंकेप्रतिजागरूककरनेकासंस्कारशालाएकअच्छाप्रयाससंस्कारशालादैनिकजागरणकाबच्चोंकोउनकेसंस्कारोंकेप्रतिजागरूककाएकअच्छाप्रयासहै।ऐसेआयोजनोंसेबच्चेसंस्कारोंकेप्रतिजागरूकहोतेहीहैंउन्हेंअच्छे-बुरेकीसमझभीआतीहै।माता-पिताकेसाथअध्यापकोंकाभीकर्तव्यबनताहैकिवेबच्चोंकोअच्छेसंस्कारदें,ताकिवेदेशनिर्माणमेंअच्छायोगदानदेसकें।-एचकेचांदसैनी,निदेशकस्कॉलरइंटरनेशनलसंस्थानघुरकड़ी

कर्तव्यकेप्रतिसजगहोनाजरूरीसंस्कारशालासेबच्चोंकोबहुतकुछसीखनेकोमिलताहै।आधुनिकताकेइसयुगमेंयुवापीढ़ीकहींनकहींअपनेसंस्कारोंसेदूरहोतीजारहीहै,लेकिनयहहमसभीकाकर्तव्यबनताहैकिहमसंस्कारोंकेप्रतिजागरूकहोंऔरसमाजसहितयुवाओंकोभीजागरूककरें।

-आरतीशर्मा,प्रधानाचार्यास्कॉलरइंटरनेशनलस्कूलघुरकड़ी।

सरस्वतीवंदनासेहुआकार्यक्रमकाआगाजजागरणसंस्कारशालाकेमेधावीसम्मानसमारोहकाआगाजस्कॉलरइंटरनेशनलस्कूलकीछात्राओंनेसरस्वतीवंदनासेकिया।इसदौरानछात्राओंनेसांस्कृतिककार्यक्रमभीप्रस्तुतकिया।देशभक्तिगीतवनृत्यकोखूबसराहागया।

येबोलेमेधावीमशीनीयुगमेंहमेंअपनेसंस्कारोंकेप्रतिजागरूककरनेकेलिएयहएकअच्छीपहलहै।बच्चेछोटीउम्रमेंहीसंस्कारोंकेप्रतिजागरूकहोंइसदिशामेंयहकदमसराहनीयहै।

-सानवीरंधावा,प्रथम,(आर्मीपब्लिकस्कूलयोल),(तीसरीसेपांचवींश्रेणी)।

ऐसेआयोजनलाभदायकहैं।संस्कारशालामेंबहुतकुछसीखनेकोमिलताहै।संस्कारोंकेसाथहमारेज्ञानवृद्धिमेंभीआयोजनप्रशंसनीयहै।-अदितगोरला,द्वितीय,(जीएवीपब्लिकस्कूलकांगड़ा),(तीसरीसेपांचवींश्रेणी)।

संस्कारितयुवासमाजकोभीजागरूककरताहै।संस्कारोंकामनुष्यकेजीवनमेंअहमयोगदानभीरहताहै।इससेवहअच्छे-बुरेकीपहचानकरताहै।-अदम्य,प्रथम,(रेनबोइंटरनेशनलस्कूलनगरोटाबगवां),(छठीसेनवमींश्रेणी)।

हमेंसंस्कारसीखनेकामौकामिलाहै।अच्छीपहलकेलिएदैनिकजागरणकाआभारहै,जिन्होंनेयहप्रयासशुरूकियाहै।-ओजस्वी,द्वितीय,(डीएवीपब्लिकस्कूलपालमपुर),(छठीसेनवमींश्रेणी)।

सराहनीयप्रयासहै।हमयहभीजानपाएकिसंस्कारक्याहोतेहैं।इनहेंहमअपनेजीवनमेंभीअपनाएंगे।-कशिश,तृतीय,(रेनबोइंटरनेशनलस्कूलनगरोटाबगवां),(छठीसेनवमींश्रेणी)।

नईपहलहैजोकिअच्छीबातहै।ऐसेआयोजनमेंभागलेकरबहुतखुशीहुईहै।हमअपनेसहपाठियोंकोभीजागरूककरसकेंगे।-मान्यामरवाह,द्वितीय,(आर्मीपब्लिकस्कूलयोलकैंट),(दसवींसेजमादोश्रेणी)।

यहरहेमौजूदसम्मानसमारोहमेंस्कॉलरइंटरनेशनलसंस्थानकेनिदेशकएचकेचांदसैनी,स्कॉलरइंटरनेशनलस्कूलकीप्रधानाचार्याआरतीशर्मा,कृतिकपूर,रेनबोइंटरनेशनलस्कूलनगरोटाबगवांकीनिदेशकमीनाक्षीकश्यप,अध्यापिकाओंमेंमनीषावअंबिका,डीएवीपालमपुरसेद¨वद्री¨सह,दैनिकजागरणकेराज्यसंपादकनवनीतशर्मा,यूनिटप्रबंधकरणदीप¨सह,ब्रांडप्रबंधकअर¨वदशर्मासहितविभिन्नस्कूलोंकेअध्यापक,छात्रवअभिभावकभीमौजूदरहे।

विभिन्नस्कूलोंके39मेधावीसम्मानितजागरणसंस्कारशालाकेमेधावीसम्मानसमारोहमेंविभिन्नस्कूलोंके39मेधावियोंकोसम्मानितकियागया।इनसभीकोदैनिकजागरणकीओरसेपुरस्कारदिएगए।

By Farmer