जासं,फरीदाबाद:सीबीएसईकीदसवींकीपरीक्षामेंसंयुक्तरूपसेजिलेमेंदूसरास्थानप्राप्तकरनेवालीडीएवीपब्लिकस्कूलसेक्टर-14कीप्रतिष्ठागुप्ताआइएएसबननाचाहतीहैं।प्रतिष्ठानेसामाजिकविज्ञानमें97,सामाजिकअध्ययनवअंग्रेजीमें98-98औरसंस्कृतवगणितमें100अंकप्राप्तकिएहैं।इसकाश्रेयवहअपनेशिक्षकोंऔरमाता-पितावभाईप्रांजलकोदेतीहैं।

सेक्टर-10निवासीसीएगिरीशगुप्तावगृहप्रबंधकरजनीगुप्ताकीहोनहारबेटीनेप्रतिदिनतीनसेचारघंटेपढ़ाईकी।उनकेमुताबिकदिनभरपढ़ाईकरनेसेमानसिकतनावहोताहैइसीलिएवेहरघंटेकेबाद15मिनटकाब्रेकलेकरपढ़ाईकरतीहै।

दैनिकजागरणकेसाथबातचीतमेंउन्होंनेकहाकिशिक्षिकाओंद्वारादिएगएनोट्ससेपताहीचलसकाकिकौनसाअध्यायकितनामहत्वपूर्णहै।अपनेकनिष्ठोंकेलिएकीरायदीकिकक्षामेंअध्यापकद्वारापढ़ानेजानेवालेविषयपरएकाग्रचितहोकरध्यानदेंऔरफिरघरपरउसकारिवीजनकरें।बकौलप्रतिष्ठा,किसीकोभीअपनीतुलनाकिसीभीअन्यविद्यार्थीसेनहींकरनीचाहिए।कक्षामेंमानसिकरूपसेउपस्थितरहनासबसेजरूरीहोताहै,क्योंकिपूरेवर्षजोआपकक्षामेंकरतेहैं,उसीकापरिणामपरीक्षाकेजरिएहमारेसमक्षआताहै।इनसबकेअलावाअतिरिक्तपाठ्यक्रमगतिविधियोंमेंहिस्सालेनाभीउतनाहीमहत्वपूर्णहै,जिससेहमअपनामानसिकतनावखत्मतोनहींकरसकतेलेकिनकमजरूरकरसकतेहैं।

By Evans