जागरणसंवाददाता,देहरादून।भारतीयसैन्यअकादमीसेशनिवारको319युवाबतौरलेफ्टिनेंटभारतीयसेनाकाहिस्साबने।साथहीदसमित्रदेशकेभी68कैडेटपासआउटहुए।इनमेंअफगानिस्तानके40युवाअफसरकीवापसीकोलेकरअभीअसमंजसबनाहुआहै।अन्यमित्रदेशोंकीभांतिअफगानिस्तानकेयहयुवाअफसरवतनकबलौटेंगे,इसेलेकरस्थितिसाफनहींहुईहै।बतायाजारहाहैकिफिलहालयहसैन्यअकादमीमेंहीरहेंगे।रक्षामंत्रालयवविदेशमंत्रालयसेदिशा-निर्देशमिलनेकेबादहीअगलाकदमउठायाजाएगा।

बतादें,आइएमएमेंभारतकेअलावा33मित्रदेशकेकैडेट्सकोभीसैन्यप्रशिक्षणदियाजाताहै।इनमेंअफगानिस्तानभीशामिलहै।अन्यमित्रदेशोंकीतुलनामेंसैन्यप्रशिक्षणप्राप्तकरनेवालोंमेंअफगानिस्तानकेकैडेटकीसंख्याअधिकहोतीहै।43अफगानकैडेटवर्तमानमेंभीअकादमीमेंप्रशिक्षणप्राप्तकररहेहैं।लेकिन,बीतीजुलाई-अगस्तमेंअफगानिस्तानपरतालिबानकाकब्जाहोनेकेबादइनयुवाअफसरकेसामनेअजीबस्थितिआखड़ीहुईहै।

अफगानिस्तानमेंअबपूरीतरहतालिबानकाशासनहैऔरसेनाभीतालिबानकेनियंत्रणमेंहै।इनपरिस्थितियोंमेंआइएमएमेंसैन्यप्रशिक्षणप्राप्तकरपासआउटहोचुकेअफगानिस्तानकेयुवाअफसरभीउलझनमेंहैं।अकादमीकेआधिकारिकसूत्रोंकेमुताबिकइससंदर्भमेंरक्षामंत्रालयवविदेशमंत्रालयसेदिशा-निर्देशलिएजारहेहैं।वहांसेजोभीआदेशप्राप्तहोगाआगेउसीअनुसारकार्रवाईकीजाएगी।

ओटीएसेपासआउटहोकरसेनाकाअंगबनादूनकालाल

उत्तराखंडकेतमामसपूतआफिसर्सट्रेनिंगएडकेमीसेभीपासआउटहोकरदेशकीसेवाकीराहपरअग्रसरहोतेहैं।दूनकाएकलालशनिवारकोओटीए,गया(बिहार)कीपासिंगआउटपरेड(पीओपी)मेंअंतिमपगभरकरभारतीयसेनाकाअभिन्नअंगबनगया।लेफ्टिनेंटबनेमयंकसुयालनेसेनाकाअंगबनकरपरिवारकोसैन्यविरासतकोभीआगेबढ़ायाहै।

मूलरूपसेजनपदटिहरीग्रामपाली(चंबा)निवासीमयंकवर्तमानमेंदेहरादूनस्थितमोथरोवालाकेनिवासीहैं।उनकेपितापीएनसुयालकेंद्रीयअकादमीराज्यवनसेवामेंखेलअधिकारीपदपरतैनातहैं।इससेपहलेवेसेना(17वींगढ़वालराइफल्स)में21वर्षोंतकदेशकीसेवाकरचुकेहैं।सेनामेंजानेकीप्रेरणामयंककोअपनेपितासेहीमिली।लेफ्टिनेंटबनेमयंकसुयालनेस्कूलीशिक्षादूनकेसेंटथामसस्कूलसेपूरीकीऔरइसकेबादउनकाचयनसेनामेंअधिकारीपदपरहोगया।चयनकेबादउन्होंनेएकसालओटीएपुणेवतीनसालसीएमई(कालेजआफमिलिट्रीइंजीनियङ्क्षरग)पुणेमेंप्रशिक्षणप्राप्तकिया।

यहभीपढ़ें:-इसबारभारतीयसैन्‍यअकादमीकीपरेडमेंनहींदिखीऐतिहासिकबग्घी,नहीहेलीकाप्टरसेबरसेफूल

By Duffy