जेएनएन,बिजनौर।कोरोनाऔरजानलेवाबुखारकोलेकरहरओरहाहाकारमचाहुआहै।आक्सीजनकीकमीकेचलतेलोगोंकीजानजारहीहै।हालातयहहैकिअभीभीआक्सीजनकीकमीकेचलतेलोगमारे-मारेफिररहेहैं।रोगियोंकीजानबचानेकेलिएउनकेतीमारदारआक्सीजनसिलेंडरकेलिएभटकरहेहैं।कहींबामुश्किलआक्सीजनउपलब्धहोपारहीहैतोकहींलोगपरेशानहोरहेहैं।आलमयहहैकिलोगजिलेऔरप्रदेशकेबाहरभीआक्सीजनलेनेपहुंचरहेहैं।बसकिसीतरहस्वजनकीजानबचानाचाहतेहैं,लेकिनचांदपुरक्षेत्रमेंलोगोंकेलिएआक्सीजनकीकोईव्यवस्थाहीनहींहै।

चांदपुरतहसीलक्षेत्रमेंरोजानाकोरोनासंक्रमितोंकीसंख्यामेंइजाफाहोरहाहै।बुखारभीखूबपैरपसाररहाहै।कोरोनाहोयाफिरबुखारदोनोंसेपीड़ितमरीजोंकोआक्सीजनकीआवश्यकतापड़रहीहै।देखाजारहाहैकिअचानकमरीजोंकाआक्सीजनलेवलगिरजाताहै।जिसकेबादउन्हेंआक्सीजनकीजरूरतपड़तीहै,लेकिनचांदपुरक्षेत्रमेंआक्सीजनकीकोईउपलब्धतानहींहै।ऐसेमेंमरीजकेतीमारदारआक्सीजनकेलिएजद्दोजहदकरतेहैं।बिजनौर,धामपुर,नजीबाबादकेअलावाअन्यस्थानोंपरआक्सीजनमिलनेकीसुविधातोहै,लेकिनवहांसेभीकईबारलोगनिराशलौटतेहैं।दिनोंदिनहालातबेकाबूहोरहेहैं,लेकिनआक्सीजनकीउपलब्धतापूरीनहींहोरहीहै।ऐसेमेंलोगोंकाधैर्यभीजबावदेरहाहैऔरमरीजोंकीभीतड़प-तड़पकरमौतहोरहीहै।केस-1:मोहल्लासरायरफीनिवासीअतुलकुमारकीमांकोरोनासंक्रमितहै।उन्हेंआक्सीजनकीबहुतजरूरीहै,लेकिनसिलेंडरउपलब्धनहींहोपारहाहै।निजीअस्पतालोंमेंकहींभीआक्सीजननहींतोसरकारीमेंबैडनहींमिलरहाहै।ऐसेमेंउनकीहिम्मतटूटतीजारहीहै।यदिसमयपरउन्हेंआक्सीजनमिलजाएतोउनकीजानबचसकतीहै,लेकिनअभीभीकिल्लतहीकिल्लतदिखाईदेरहीहै।केस-2:निकटवर्तीगांवस्याऊनिवासीसतेंद्रकुमारकीपत्नीपिछलेदिनोंबुखारसेपीड़ितहोनेकेबादकोरोनासेसंक्रमितहोगई।आक्सीजनलेवलनीचेगिरताचलागया।वहलगातारआक्सीजनसिलेंडरकेलिएइधर-उधरभटकतेरहे,लेकिनसभीजगहलोगोंनेहाथखड़ेकरदिए।चांदपुरक्षेत्रमेंतोकहींभीसिलेंडरकीउपलब्धतानहींथी।समयपरआक्सीजननमिलनेपरउनकीसांसेंथमगईं।

केस-3:गांवशेखुपुरानिवासीमंजीतसिंहकेताऊकीहालतबेहदनाजुकहै।उनकीलिएवहलगातारआक्सीजनसिलेंडरकेलिएभटकरहेहैं।पूरेजिलेमेंजगह-जगहटक्करखाई,लेकिनसिलेंडरउपलब्धनहींहोसका।इधर-उधरपताकरनेपरदूसरेजिलेमेंसिलेंडरमिलनेकीसूचनामिलीतोवहवहांकेलिएरवानाहुए।

By Douglas