एटा,जागरणसंवाददाता:लगातारबढ़तीठंडऔरकोहरेकेसाथपालाभीतेजीसेगिररहाहै।इसबारकिसानोंनेअच्छेलाभकेलिएआलूकीखेतीपरदावलगाया,उन्हेंमौसमकेचलतेपनपरहेरोगोंसेफसलकोबचानेकीचुनौतीदिखरहीहै।कृषिविशेषज्ञजैसेभीफसलबचावकेउपायबतारहेहैंवहउन्हेंकरनेकेलिएमजबूरहैं।

यहांबतादेंकिपिछलेसालज्यादालाभनहीं,लेकिनआलूकेबाजारदामसहीमिलनेऔरफसलअच्छीहोनेकेकारणजिलेमेंइसबारकिसानोंने12हजार600हेक्टेयरआलूकाआच्छादनकिया।शुरूआतमेंमौसमकाभीसाथरहा,लेकिनदिसंबरकेदूसरेपखवाड़ेसेपहलेबारिशऔरफिरलगातारपारागिरनेकेसाथपालेनेभीमुश्किलेंउत्पन्नकरदीहैं।हरे-भरेआलूकेखेतोंमेंझुलसाकीशुरूआतअबतोबढ़तीजारहीहै।जिलेमेंआलूकेमुख्यउत्पादकजलेसरतहसीलक्षेत्रमेंभीकिसानोंकोमौसमकीमारसेलाचारहोनापड़रहाहै।हालयहहैकिझुलसासेपहलेपत्तियांपीलीपड़रहींहैंऔरपौधेकेनीचेआलूकीवृद्धिभीरुकगईहै।जोकिसानअगैतीफसलकरदिसंबरकेअंततकआलूकीखोदाईकरबाजारमेंअच्छामूल्यपालेतेउनकीफसलेंभीप्रभावितहैं।आलूकाआकारमौसमकीमारसेठिठुरगयाहै।जिलेकेअन्यक्षेत्रोंमेंभीऐसीहीमुश्किलेंहैं।जिनकिसानोंनेअपनाबीजलगायाउनकीलागतभलेहीकमहो,लेकिनमहंगीप्रजातियोंकाबीजखरीदकरप्रयोगमेंलानेवालेकिसानपरेशानहैं।अबरोगोंकोबचानेकेलिएलागतबढ़ानीपड़रहीहै।कृषिवैज्ञानिकडा.वीरेंद्रसिंहबतातेहैंकिकुछरसायनोंकेप्रयोगकेअलावाखेतोंकीमेड़ोंपरशामसेधुआंकरनासस्ताऔरकारगरविकल्पहै।यहबोलेकिसान

इससालदसबीघाआलूकिया,अच्छीउम्मीदेंथीं,लेकिनपंद्रहदिनोंमेंहीबिगड़ेमौसमनेखेतीकासारागणितबिगाड़दियाहै।यहीपरेशानीहै।

-प्रवेंद्ररानामुश्किलेंतोहरबारखेतीमेंआतीहैं,लेकिनपिछलेसालकीतरहइसबारअच्छीफसलहोनेसेपहलेहीमौसमनेमुश्किलेंबढ़ाकरटेंशनदीहै।

-अरविदसिंहउद्यानविभागसेमहंगाआलूबीजखरीदा,लेकिनफसलोंकीबिगड़तीस्थितिकोदेखकरतोयहीलगरहाहैकिलागतनिकलआएवहीबहुतहै।

-संदीपसिंहवैसेतोआलूकीफसलमेंपनपेरोगोंसेनुकसानहोनालाजमीहै।यदिमौसमअभीभीसाथदेतोनुकसानज्यादानहींहोगा,यहीराहतमिलजाए।