-करियरचयनमेंरुचिकोदेंवरीयता,परंपराकोहीढोतेरहनासहीनहीं

-हरपहलूकेमद्देनजरसोच-समझकरहीलेंजीवनकानिर्णयजागरणसंवाददाता,सिलीगुड़ी:वर्तमानजुलाईमहीनेमेंहीविभिन्नबोर्डकी12वींकेपरिणामआजाएंगे।उसकेबादविद्यार्थीअपने-अपनेकरियरलक्ष्यकेअनुरूपविभिन्नकॉलेजोंमेंविभिन्नसंकायोंमेंनामाकनकराएंगे।सो,जीवनकायहपड़ावविद्याíथयोंकेलिएबहुतहीमहत्त्वपूर्णहै।उसीकेमद्देनजरदैनिकजागरण(सिलीगुड़ी)कीओरसेसमाधानशीर्षकीय12वींकेबादकरियरविषयपरविशेषऑनलाईनपरिचर्चासत्रआयोजनकीपहलकीगईहै।इसकेतहतदूसरेदिनगुरुवारकोभीसिलीगुड़ीवआसपासकेविभिन्नकॉलेजोंवस्कूलकेनिदेशकोंवप्राचार्यनेविषयकेविविधपहलुओंपरप्रकाशडाला।पेशहैंमुख्यअंश।

12वींकेबादकरियरकीसंभावनाएंअनंतहैं।अनगिनतराहेंहैं।किसीभीराहकोविद्यार्थीअपनासकतेहैं।पर,सबसेअहमयहहैकिउसमेंउनकीअपनीरुचिहोनीचाहिए।आमतौरपरदेखाजाताहैकिमाता-पिताअपनेअधूरेसपनेकोअपनेबच्चोंकेमाध्यमसेपूराकरनाचाहतेहैं।सो,वेउनकोवहीबननेकेलिएदबावडालतेहैं।जैसे,ज्यादातरमाता-पिताकीयहीइच्छाहोतीहैकिउनकाबच्चाविज्ञानसंकायसेपढ़ेऔरडॉक्टरअथवाइंजीनियरबने।पर,वेयहनहींदेखतेकिउसमेंउनकेबच्चेकीभीदिलचस्पीहैभीयानहीं।ऐसेमेंविद्याíथयोंपरमाता-पिताकाअधिकदबावहोताहै।बच्चेअपनीरुचिवअपनीइच्छाकेविपरीतअपनेमाता-पिताकीइच्छाकेअनुरूपकै

करियरचयनकरनेकोमजबूरहोतेहैं।यहएकतरहसेविनाशकनिर्णयहोजाताहै।क्योंकि,जबरनथोपीगईकोईभीचीजकोईभीव्यक्तिबेहतरतरीकेसेकार्यान्वितनहींकरपाताहै।इसीलिएकरियरचयनमेंबच्चोंकोहमेशाइसबातकाध्यानरखनाचाहिएकिवेजोकुछभीचुनेंउसमेंउनकीअपनीरूचिहो।इसबाबतयहभीख्यालजरूररखेंकिवहजोविषय,जोक्षेत्रचुनरहेहैंउसमेंरोजगारसृजनकीबेहतरसंभावनाभीहैयानहीं।उसकेबादहीउसदिशामेंवहआगेबढ़ें।तबनिश्चितरूपमेंसफलताउनकेकदमचूमेगी।

प्राचार्य,मोदीपब्लिकस्कूल,सिलीगुड़ी

अपनेदेशभारतमेंकरियरकीसंभावनाओंकीकोईकमीनहींहै।करियरकेअवसरअपारहैं।इसेयूंभीसमझाजासकताहैकियहाएकचायवालाप्रधानमंत्रीहोसकताहैऔरएकठेलेपरमूंगफलीबेचनेवालादेशहीनहींबल्किदुनियाकासबसेधनीकारोबारीभीबनसकताहै।इसलिएसंभावनाओंकीकोईकमीकहींहैहीनहीं।अबकरियरकेपहलूपरबातकरेंतोयहदोतरहकाहै।एकपारंपरिकऔरएकआधुनिक।आमतौरपरलोगपारंपरिककरियरचयनकोहीवरीयतादेतेहैंलेकिनआजनएजमानेमेंआधुनिककरियरसंभावनाओंपरभीविचारकियाजानाचाहिए।इसमेंभीसबसेअहमयहहैकिकरियरहमचाहेजोकुछभीचुनें,हमाराएकउद्देश्यहोनाचाहिए।एकलक्ष्यकोलेकरहीहमेंआगेबढ़नाचाहिए।उसकेलिएमेहनतबहुतजरूरीहै।क्योंकि,बिनामेहनतकेसफलतासंभवनहींहै।अबजोलोगअसफलहोजातेहैंउसमेंकहींनकहींमेहनतकीकमीहीकारणहोतीहै।इसलिएअपनीरुचिऔरअपनेलक्ष्यकेबीचसामंजस्यस्थापितकरतेहुएपूरेसमर्पणवपूरीमेहनतकेसाथअगरविद्यार्थीआगेबढ़ेतोसफलतानिश्चितरूपमेंमिलेगी।चाहेजोकोईभीविषयहो,जोकोईभीक्षेत्रहो,कहींभीबिनामेहनतकेसफलतासंभवहीनहींहै।वहीं,यदिविद्यार्थीमेहनतकरनेकोतैयारहैतोकिसीभीक्षेत्रमेंअपनीकामयाबीकापरचमलहरासकताहै।

प्रथितेश्वरझा

निदेशक-एबीजेट्यूटोरिअलकोटा,सिलीगुड़ी

हमारेसमाजमेंएकआमधारणाहैकिसाइंससबसेबेहतरहै।उसकेबादकॉमर्सऔरउसकेबादआ‌र्ट्सकानंबरआताहै।यहपारंपरिकसोचआजकेजमानेकेअनुकूलनहींहै।माता-पिताअपनेजोसपनेसाकारनहींकरपाएं,उससपनेकाबोझवहअपनेबच्चोंकेकंधेपरकदापिनदें।ऐसाहíगजनसोचेंकिवहडॉक्टरयाइंजीनियरयाअफसरनहींबनपाएतोउसकसरकोउनकेबच्चेपूराकरें।यहमानसिकताबदलनीचाहिए।बच्चोंकीअपनीरुचिसर्वोपरिहोनीचाहिए।किसीभीविषयकोकमनसमझें।हरविषय,हरक्षेत्रकाअपनाअलगमहत्वहै।नएजमानेमेंबहुतबदलावआयाहै।नई-नईचीजेंआईहैं।नई-नईराहेंखुलीहैं।आजप्रौद्योगिकीकादौरहै।इसदौरमेंकरियरकीसंभावनाएंअपरंपारहैं।इसीलिएबच्चोंकोवउनकेअभिभावकोंकोचाहिएकिनएजमानेकेसंगतालमेलकरतेहुएहीकरियरचुनें।इसमेंभीसबसेज्यादाउसीविषययाउसीक्षेत्रमेंजाएंजोआपकेदिलकेबेहदकरीबहैं।क्योंकि,जहादिलनहींमिलेगावहादालभीनहींगलपाएगी।इसलिएअपनेमनकीसुनेंऔरपरिस्थितिचाहेकितनीभीविपरीतहोअपनीमेहनतसेउसेअनुकूलबनाएंऔरसफलताकेझडेगाड़ें।

सहायकप्राध्यापक

इंस्पीरियानॉलेजकैंपस

12वींकेसमयहीक्योंकरियरकाचयनकियाजाए?पहलेसेक्योंनहीं?बेहतरतोयहहैकिनौवींव10वींकेसमयसेहीइसपरविचार-विमर्शहो।इसमेंबच्चों,उनकेमाता-पिता,अभिभावकऔरशिक्षकसबकीजिम्मेदारीहैकिवेआपसीसमन्वयसेविचार-विमर्शकरइसबाबतसमग्ररूपमेंएकबेहतरनिर्णयकीओरबढ़ें।पहलेसेहीबच्चोंकेकरियरकीदिशाकेबारेमेंसोच-विचारनहींकियागयाऔर12वींकेरिजल्टकेसमयअंतिमघड़ीमेंनिर्णयकियागयातोयहनिर्णयहड़बड़मेंगड़बड़वालाहोसकताहै।इसलिएदसवींकेसमयसेहीबच्चोंकोअपनेअभिभावकोंवशिक्षकोंकेमार्गदर्शनमेंअपनेकरियरकीदिशातयकरनीचाहिए।उसमेंभीउन्हेंसबसेपहलेअपनीनिजीरुचिऔरसंग-संगपारिवारिकआíथकपरिस्थितिकाध्यानरखनाचाहिए।इनसबमेंसबसेज्यादाजरूरीअपनीरुचिवअपनाआत्मविश्वासहै।वहीं,यदिकोईआíथकरूपसेसक्षमनहींहैतोउसेदेशमेंअनगिनतछात्रवृत्तियोजनाएंहैं,उनकीजानकारीरखनीचाहिए।उनकालाभउठानाचाहिए।केवलराज्यसरकारयाकेंद्रसरकारकीओरसेहीनहींअंतरराष्ट्रीयसरकारोंकीओरसेभीछात्रवृत्तिमिलतीहैं।उसकेअलावाअनगिनतनिजीसंस्थानवसंस्थाएंहैंजोशिक्षाजगतमेंमददकरतीहैं।इसबाबतजानकारीकाअभावभीविद्याíथयोंकोअपनेमनचाहेक्षेत्रमेंकरियरबनापानेमेंबाधकहै।इसबाधाकोदूरकियाजाएजानाचाहिए।

डॉ.जीतेंद्रकुमार

एसएमआईटी,सिक्किम