संवादसूत्र,फिरोजपुर:वर्तमानसमयमेंशिक्षाकोमनुष्यकातीसरानेत्रकरारदियागयाहैऔरइसीकोप्राप्तकरनेकेलिएआजहरबच्चास्कूलजाताहै।इसकेलिएस्कूलऔरशिक्षकमहत्वपूर्णमेहनतकररहेहै,लेकिनशिक्षामेंबच्चोंकोसफलबनानेकेलिएमाता-पिताकासहयोगभीजरूरीहै।जिसेध्यानमेंरखतेहुएस्थानीयआरएसडीराजरत्नपब्लिकस्कूलफिरोजपुरमेंमाता-पिताकेलिएविशेषसेमिनारकरवायागया।सेमिनारमेंमुख्यअतिथिकेतौरपररिसोर्सपर्सनअमिताभाटियानेहिस्सालिया।जिन्होंने500सेअधिकमाता-पिताकोजानकारीदीकिकिसप्रकारबच्चोंकोअधिकसेअधिकसिखायाजासकताहै।सेमिनारमेंमाता-पिताकोअहमजानकारियांदेनेकेलिएस्कूलकीप्रधानाचार्यप्रवीणलतानेअमिताभाटियाकाधन्यवादव्यक्तकिया।इसदौरानस्कूलकेप्रधानएससीवांवलका,सचिवबीबीसांवलका,निर्देशकएस.पीआनंदनेसभीकाधन्यवादकियाऔरअगामीसमयमेंभीइसतरहकेसेमिनारलगानेकाविश्वासदिलाया।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!

By Elliott