जेएनएन,मुजफ्फरनगर।उत्तरभारतकीऐतिहासिकपौराणिकतीर्थनगरीशुकतीर्थपर्यटनस्थलकेरूपमेंविकसितहोरहीहै।नगरीमेंस्थापितहनुमानजी,गणेशजी,शिवजी,दुर्गाजीवमांपीतांबराबगलामुखीकीप्रतिमाजहांधार्मिकआस्थाकेंद्रबनीहै,वही,गंगातटपरस्थापितहनुमदधामनक्षत्रवाटिकाभीपर्यटकोंकोखूबलुभातीहै।दूरदराजक्षेत्रोंसेअनेकश्रद्धालुपरिवारसंगवाटिकामेंसमयबितातेहैं।मुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथकीघोषणाकेबादतीर्थनगरीमेंपर्यटनविभागकीओरसेकरोड़ोंरुपयेसेराजस्थानीकारीगरोंसेमुख्यद्वारवगंगातटपरभव्यपार्कनिर्माणकियाजारहाहै।

महाभारतकालीनतीर्थनगरीशुकतीर्थमेंपांडववंशजराजापरीक्षितकोशापसेमुक्तिदिलानेकोशुकदेवमुनिनेश्रीमदभागवतकथासुनाईथी।शिक्षाऋषिस्वामीकल्याणदेवमहाराजनेतीर्थकाजीर्णोद्धारकराकरश्रीशुकदेवमंदिरकीस्थापनाकराई।इसकेबादसिद्धसंतसुदर्शनसिंहचक्रकीप्रेरणासेहनुमदधाममें77फुटऊंची,सातसौकरोड़रामनामसमाहितहनुमानकीविशालप्रतिमाबनाईगई।शुक्रतीर्थमेंमेंभगवानशिव,गणेश,मांदुर्गावमांपीतांबराबगलामुखीकीभव्यप्रतिमाएंहैं।पर्यटकोंकोलुभारहीनक्षत्रवाटिका

महामंडलेश्वरस्वामीकेशवानंदमहाराजनेगंगातटकेकिनारेहनुमदधामनक्षत्रवाटिकाकानिर्माणकरायागया।इसमेंराशिकेनक्षत्रोंकेअनुसारपेड़-पौधोंकोलगायागयाहै।इसकेअलावाबच्चोंकेमनोरंजनकेलिएपशु-पक्षी,मोर,जिराफ,डायनासोर,सर्प,हाथी,मगरमच्छ,कछुएआदिकीप्रतिमाभीबनाईगईहैं।शहीदोंकीयादमेंकारगिलशहीदस्मारक

कारगिलयुद्धमेंशहीदहुए527शहीदोंकीयादमेंशुकतीर्थगंगातटपरकारगिलशहीदस्मारकबनायागयाहैजिसमेंशहीदोंकेनामवउनकीबटालियनशिलापटपरअंकितहैइसकेअलावाविजयंतटैंकभीरखागयाहै।विकसितहोरहीतीर्थनगरी

मुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथने16जुलाई,2019कोवीतरागसंतस्वामीकल्याणदेवमहाराजकीपुण्यतिथिपरनगरीमेंकरीब10करोड़रुपयेकीयोजनाओंकाशिलान्यासकियाथा।पर्यटकोंकीसुविधाकेलिएचारसुलभशौचालयबनाएगएहैं।इसकेअलावा43फुटऊंचाव78फुटचौड़ाईकाभव्यमुख्यद्वारराजस्थानीकारीगरोंकोदर्शाताहै।यहांपर्यटकोंकेठहरनेकेलिएआश्रमवधर्मशालास्थापितहैं,जिनमेंहजारोंयात्रियोंकेरहनेकीव्यवस्थाहै।प्रत्येकवर्षकीकार्तिकपूर्णिमावज्येष्ठगंगादशहरेपरमेलेकाआयोजनकियाजाताहै,जिनमेंदूरदराजक्षेत्रोंसेलाखोंश्रद्धालुपहुंचतेहैं।श्रीगंगासेवासमितिकेमहामंत्रीमहकारसिंहकाकहनाहैकितीर्थनगरीकेविकासकोकार्यकराएजारहेहैं।इसेऔरविकसितकरनेकीजरूरतहै।

By Elliott