-प्रदेशमेंबनेहैं22लाखकार्ड,कुललाभार्थी75लाख,जिलेमें1लाख82हजारनेबनवाएगोल्डनअथवाआयुष्मानकार्ड

-जिलेमेंनाम,पतावबायोमीट्रिककीगलतीसे20हजारआयुष्मानकार्डहोचुकेरिजेक्ट

सुभाषचंद्र,हिसार:

आयुष्मानयोजनाकेतहतअस्पतालजोड़नेकेमामलेमेंहिसारनेअर्धशतकपूराकरलियाहै।हिसारमेंअबप्रदेशमेंसबसेअधिक51निजीऔरबड़ेअस्पतालआयुष्मानकार्डयोजनामेंपैनलसेजोड़ेजाचुकेहैं।हिसारकेबादसिर्फपानीपतजिलेमेंकरीब42अस्पतालहैं।अन्यजिलोंमेंआयुष्मानसेजोड़ेगएअस्पतालोंकीसंख्याहिसारकीतुलनामेंकाफीकमहै।वहींसरकारकीओरसेसभीलाभार्थियोंकेकार्डबनानेकेप्रयासकिएजारहेहैं।गौरतलबहैकिप्रदेशमेंकुल75लाखआयुष्मानकार्डकेलाभार्थीहैं।लेकिनअभीतकसिर्फ22लाखलाभार्थियोंकेहीगोल्डनअथवाआयुष्मानकार्डबनपाएहैं।वहींहिसारजिलेकीबातकरेंतोयहांकरीब4लाख60हजारलाभार्थीहैं,लेकिनअबतककरीबएकलाख82हजारआयुष्मानकार्डहीबनपाएहैं।कार्डबनानेमेंशहरोंकीरफ्तारगांवोंकेमुकाबलेधीमीहै।

अब100फीसदआधारकार्डसेजुड़ेंगेआयुष्मानकार्ड

जिलेमेंकईआयुष्मानकार्डबिनाबायोमीट्रिकबनाएगएथे।लेकिनअबइनकार्डोकोदोबारासेबायोमीट्रिककेमाध्यमसेबनवानाहोगा।सरकारनेअबआयुष्मानकार्डोंको100फीसदआधारसेलिककरदियाहै।इनकार्डोंकोबायोमीट्रिककेजरियेहीबनायाजाएगा।

प्रत्येकआयुष्मानमित्रकोप्रतिदिनबनानेहोंगे50कार्ड

सीईओद्वाराहालहीमेंहुईबैठकमेंफैसलालियागयाथाकिप्रदेशमेंजिनजिलोंमेंआयुष्मानकार्डबनानेकीरफ्तारधीमीहै।उनजिलोंमेंप्रत्येकआयुष्मानमित्रको200कार्डप्रतिदिनऔरअन्यजिलोंमेंप्रत्येकआयुष्मानमित्रको50कार्डप्रतिदिनबनानेकाटारगेटपूराकरनाहोगा।हिसारजिलेमें14आयुष्मानमित्रहैं,जिनमेंसेप्रत्येककोप्रतिदिन50कार्डबनानेहोंगे,यानिहिसारके14आयुष्मानमित्रप्रतिदिन700आयुष्मानकार्डबनाएंगे।

अबपटवारी,सीएचसीवपीएचसीकेमेडिकलऑफिसर,सेक्रेटरीकरवासकेंगेसंशोधन

अबआयुष्मानकार्डमेंगलतीठीककरवानेकेलिएसरपंच,पटवारी,सीएचसीवपीएचसीमेंकार्यरतमेडिकलऑफिसर,सेक्रेटरीभीआयुष्मानकार्डमेंसंशोधनकरवासकतेहैं।आयुष्मानकार्डमेंनाम,पता,पिताकानामसहितगलतजानकारीकोइनलोगोंसेठीककरवायाजासकेगायायेलोगसंशोधनकेलिएरिकमंडकरसकेंगे।आयुष्मानकार्डबनानेकीरफ्तारकोबढ़ानेकेलिएयहफैसलालियागयाहै।इसबारेमेंभीसीईओप्रदेशकेसभीआयुष्मानमित्रोंकेसाथवीडियोकांफ्रेसिगकरेंगे।

नगरपार्षदोंकेसाथबैठककरबढ़ाएंगेआयुष्मानकार्डकीरफ्तार

आयुष्मानकार्डबनानेकीरफ्तारकोबढ़ानेकेलिए8दिसंबरकोसीईओअमनेतकुमारनगरपार्षदोंकेसाथवीडियोकांफ्रेसिगकरेंगे।इसदौरानप्रदेशमेंआयुष्मानकार्डबनानेकेकामकोकैसेतेजकियाजाए,ताकिअधिकसेअधिकआयुष्मानकार्डबनसकें।इसविषयपरचर्चाहोगी।

जिलेमें20हजारकार्डनाम,पतागलतहोनेकेकारणहोचुकेरिजेक्ट

आयुष्मानयोजनाकेसाथजिनलाभार्थियोंकेनाम,पतेकार्डमेंगलतदर्जहुएहैं,साथहीबायोमीट्रिकनाहोनेकेकारणजिनकेकार्डरिजेक्टहुएहैं।वेअबअपनेकार्डमेंसंशोधनकेलिएदोबाराआवेदनकरनाहोगा।जिलेमेंअबतकऐसे20हजारकार्डरिजेक्टहोचुकेहैं।इनलोगोंकोउपरोक्तसेंटर्सपरकार्डकेलिएदोबाराआवेदनकरनाहोगा।वहींकार्डमेंनाम,पिताकानाम,पतादुरुस्तकरवायाजासकेगा।

जिलेमें6सीएचसीसेंटरवसिविलअस्पतालमेंबनवासकेंगेकार्ड

जिलेमेंबरवाला,आदमपुर,नारनौंद,हांसी,सोरखी,आर्यनगरस्थितसीएचसीवसिविलअस्पतालमेंआयुष्मानकार्डबनवाएजासकेंगे।वहींसीएससीसेंटरमेंभीकार्डबनवानेकेसाथसंशोधनभीकरवायाजासकेगा।जिनकानामलाभार्थियोंकीलिस्टमेंहै,वेअपनागोल्डनकार्डबनवानेकेलिएप्रधानमंत्रीद्वाराप्राप्तलेटर,राशनकार्डऔरआधारकार्डलेकरसंबंधितसेंटर्सपरसंपर्ककरसकतेहैं।

यहहैआयुष्मानभारतयोजना

इसयोजनाकेअंतर्गतलाभार्थियोंकोअपनागोल्डनकार्डबनवानाहोगा।इसगोल्डनकार्डकीसहायतासेदेशकेआर्थिकरूपसेकमजोरवर्गअस्पतालोंमें5लाखरुपयेकामुफ्तमेंअपनाइलाजकरवासकतेहैं।लेकिनलाभार्थीकेवलउनअस्पतालोंमेंमुफ्तमेंअपनाइलाजकरवासकतेहैं,जोकेंद्रसरकारद्वाराचुनेगएहैं।

आयुष्मानयोजनाकेतहतउपरोक्तसेंटरपरकार्डबनानेवसंशोधनकाकामकियाजारहाहै।लाभार्थियोंसेअपीलहैकिइनसेंटरपरपूरेदस्तावेजोंकेसाथआकरअपनेआयुष्मानकार्डबनवाएं।

डा.मनीष,जिलानोडलअधिकारी,आयुष्मानयोजना।

आयुष्मानयोजनाकेतहतकार्डबनानेकेलिएसेंटरउपलब्धकरवाएगएहैं।वहींहिसारमें51अस्पतालयोजनासेजुड़चुकेहैं।लोगोंकोअधिकसेअधिकअपनेकार्डबनवानेचाहिए।

-डा.रत्नाभारती,सीएमओ,हिसार।

By Douglas