अलीगढ़,सुरजीतपुंढीर।केंद्रवप्रदेशसरकारएकओरडिजिटलइंडियाकानाराबुलंदकररहीहै,वहींदूसरीओरसरकारीमशीनरीइसव्यवस्थाकोपलीतालगारहीहै।अबऑनलाइनजन्मवमृत्युप्रमाणपत्रसमयसेजारीकरनेकीव्यवस्थाबेदमहोगईहै।जिलेमेंहजारोंप्रमाणपत्रअटकेपड़ेहैं।सौसेज्यादाग्रामपंचायतोंकोअबतकआइडी-पासवर्डतकनहींमिलेहैं।लोगप्रमाणपत्रनमिलनेसेसरकारीयोजनाओंकालाभनहींलेपारहाहैं।

पहलेथेई-गवर्नेंसमें

प्रदेशसरकारपिछलेकईसालोंसेई-गवर्नेंसकेमाध्यमसेमृत्युवजन्मप्रमाणपत्रजारीकरारहीथी।इसमेंजनसेवाकेंद्रकेमाध्यमसेआवेदनकरनाहोताथा।इसकेबादयहआवेदनई-गवर्नेंसमेंपहुंचताथा।वहांसेइसेसंबंधितब्लॉककेएडीओपंचायतकोभेजाजाताथा।एडीओपंचायतसंबंधितसचिवसेरिपोर्टमांगतेहैं,रिपोर्टलगतेहीआवेदकसंबंधितजनसेवाकेंद्रसेअपनाप्रमाणपत्रनिकाललेतेथे।

इससालकीशुरुआतमेंहीजनवरीसेसरकारनेइसकेलिएनईव्यवस्थाशुरूकरदीहै।ई-गवर्नेंसकोखत्मकरसीधेसचिवोंकोप्रमाणपत्रजारीकरनेकाअधिकारदेदियाहै।इसमेंआवेदककोसीधेतौरपरकागजातदेनेहोतेहैं।इसकेबादसंबंधितसचिवसंबंधितग्रामपंचायतसेहीऑनलाइनप्रमाणपत्रबनाकरआवेदककोदेदेताहै।सभीसचिवोंकोसीएमओकार्यालयसेआइडीपासवर्डदेदिएजातेहैं।

शुरूनहींहुआकाम

जिलेमें878ग्रामपंचायतेंहैं,इनमेंसेअबतकसौसेअधिकपंचायतोंकोप्रमाणपत्रबनानेकेलिएआइडीपासवर्डहीनहींमिलेहैं।ऐसेमेंइनपंचायतोंकेसचिवप्रमाणपत्रभीनहींबनारहेहैं।हरपंचायतमेंदर्जनोंआवेदनलंबितपड़ेहैं।वहीं,सरकारीयोजनाओंकेलाभमेंमृत्युवजन्मप्रमाणपत्रअनिवार्यहैं।

वसूलीकाखेल:जिनपंचायतोंमेंआइडीपासवर्डमिलचुकेहैं,इनमेंकुछमेंवसूलीकाखेलचलरहाहै।पांच-दसरुपयेकीफीसकीजगह300से400रुपयेतकलिएजारहेहैं।इससेभीजनतापरेशानहैं।

प्रमाणपत्रनहींमिला

जवांब्लॉककेछेरतनिवासीदेवेशगौड़नेजुलाईमेंअपनीमौसीशंकलपुरीकीमौतकेबादमृत्युप्रमाणपत्रकेलिएआवेदनकियाथा,लेकिनइतनासमयगुजरनेकेबादभीअबतकइन्हेंप्रमाणपत्रनहींमिलाहै।यहकईबारसचिवसेलेकरपंचायतराजविभागतककेचक्करलगाचुकेहैं।

अफसरोंकेचक्करलगा-लगाकेपरेशान

धनीपुरब्लॉककीप्रेमलतानेपांचमहीनेपहलेमृत्युप्रमाणपत्रकेलिएआवेदनकियाथा,लेकिनअबतकयहप्रमाणपत्रनहींमिलाहै।इसकेचलतेइन्हेंपारिवारिकलाभयोजनावसड़कदुर्घटनाबीमाकालाभनहींमिलपारहाहै।यहअफसरोंकेचक्करलगा-लगाकेपरेशानहैं।

जिलेमेंकुछपंचायतोंकोअभीआइडीपासवर्डनहींमिलेहैं,इसकेचलतेलोगोंकोदिक्कतेंआरहीहैं।सीएमओकार्यालयसेयहजारीकिएजातेहैं।

पारुलसिसौदिया,डीपीआरओ

By Doherty