हरदोई:मोतियाबिदसहितआंखोंकीअन्यबीमारियोंसेजूझनेवालोंकीआंखोंकेआगेअंधेरागहराताजारहाहै।राष्ट्रीयअंधतानिवारणकार्यक्रमकासहीक्रियान्वयननहोनेसेइनकेउजालेकीआसअंधेरेमेंखोगईहै।आलमयेहैकिबुजुर्गोंकेमोतियाबिदकानतोऑपरेशनहोपारहाहैऔरनहीआंखोंकीबीमारीसेपरेशानबच्चोंकोचश्माहीमिलपारहाहै।

राष्ट्रीयअंधतानिवारणकार्यक्रममेंबुजुर्गोंसेबच्चोंतककोरोशनीदेनेकेलिएप्रतिवर्षलाखोंरुपयेखर्चकिएजातेहैं।उम्रढलनेपरज्यादातरलोगमोतियाबिदकीचपेटमेंआजातेहैं।ऑपरेशननहोनेसेतमामलोगअंधतासेग्रस्तहोजातेहैं।ऐसानहोइसकेलिएराष्ट्रीयस्वास्थ्यमिशनकेतहतचलाएजारहेकार्यक्रममेंमोतियाबिदसेपीड़ितोंकेऑपरेशन,चश्माऔरदवाईपूरीतरहसेनि:शुल्कदीजातीहै।वहीं,छोटेबच्चोंकीविद्यालयोंमेंआंखोंकीजांचहोतीहै।बीमारीमिलनेपरउपचारऔरजरूरतपड़नेपरचश्मादिएजातेहैं।वर्ष2019-20केलिएधनराशिकाआवंटनकर21033मोतियाबिदऑपरेशनऔर4100बच्चोंकोचश्मावितरणकालक्ष्यभीनिर्धारितकरदियागया,लेकिनयोजनाआगेनहींबढ़पारहीहै।पांचमहीनेमेंमात्र1024आपरेशनकिएगएतोविद्यालयोंमेंनेत्रपरीक्षकोंने5627बच्चोंकीआंखोंकीजांचतोकरली,लेकिनअभीतकएकभीबच्चेकोचश्मानहींमिला।ऐसीहालतमेंमोतियाबिदसेपरेशानबुजुर्गभटकरहेहैंऔरजिनबच्चोंकीआंखोंमेंपरेशानीहैवहपढ़ाईनहींकरपारहेहैं।

मोतियाबिदकेऑपरेशनहोरहेहैं।बरसातकेदिनोंमेंसंक्रमणकाज्यादाखतरारहताहै,इसलिएकमआपरेशनकिएजातेहैं।बच्चोंकेसाथहीबुजुर्गोंको2050चश्मादेनेकेलिएटेंडरहोगयाहै।जिनबुजुर्गोंकोजरूरतहोगीउन्हेंचश्मेदिएजाएंगे।

-डॉ.वीपीगौतम,नोडलअधिकारी