बाराबंकी:सिद्धौरकेअचकामऊगांवकेग्रामीणविभिन्नयोजनाओंकेलाभसेवंचितहैं।ऐसानहींगांवमेंकोईपात्रनहींहै,यहांकेज्यादातरग्रामीणझोपड़पट्टीमेंरहतेहैंऔरश्रमिकहैं।अपात्रबनाएजानेकेबादसेइन्हेंसरकारीसुविधाओंसेवंचितकरदियागयाहै।

सिद्धौरब्लाककेग्रामपंचायतअचकामऊकेग्रामीणोंकोअधिकारियोंकीलापरवाहीभारीपड़रहीहै।चारसालसेअधिकसमयबीतजानेकेबादभीएकभीलाभार्थीकोआवासनहींमिलपायाहै।यहग्रामपंचायतगोमतीनदीकेकिनारेपरस्थितहै।यहांकेगरीबलोगघास-फूससेझोपड़ीबनाकरअपनाजीवनयापनकरनेकोमजबूरहैं।करीबसवासौपरिवारकेपासछतकीकोईव्यवस्थानहींहै।

यहहुईब्लॉकअफसरोंसेगलती:वर्ष2015मेंप्रधानमंत्रीआवासकेलिएसर्वेहुआथा।पात्रतासूचीब्लॉकसिद्धौरकेबजायहरखब्लॉककीग्रामपंचायतबलछठमेंशामिलकरदीगई।ब्लॉकबदलनेसेपात्रोंकोसरकारीसुविधाएंदेनाबंदहोगईं।उच्चाधिकारियोंकेसंज्ञानमेंआयातोइसकासंशोधनतोकरादियागया,परआवासवअन्यसुविधाएंआजतकनहींमिलसकी।गरीबोंकाछलकरहादर्द:पात्रलाभार्थीनंदकिशोर,सज्जनकुमार,दिनेशकुमार,संतोषकुमार,राजकुमार,सियावती,रामदुलारीकेसाथग्रामप्रधानदुर्गाबक्ससिंहनेजिलाअधिकारीकोआपबीतीबतातेहुएप्रार्थनापत्रदेकरआवासकीमांगकी।लोगोंकाकहनाहैकिअफसरोंकीगलतीसेहमलोगअपात्रबनगएहैं।इनअधिकारियोंपरभीकार्रवाईकीजानीचाहिए।पूरेब्लॉकमें84आवासोंकालक्ष्यमिलाहै,जोसामान्यजातियोंकेलिएहै।गांवमेंसामान्यजातियोंकीसंख्याकेआधारपरआवासवितरणकाकार्यकियाजाएगा।

-अनिलकुमार,एडीओपंचायत

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप

By Duncan