अयोध्या,जेएनएन। श्रीरामजन्मभूमिमंदिरकीनींवकेऊपरीहिस्से(प्रतिष्ठान)केनिर्माणमेंमिर्जापुरकेपत्थरलगेंगे।इसपत्थरकीपहलीखेपबुधवारकोरामनगरीपहुंचगई।इसमें16घनफीटमापके30पत्थरकेटुकड़ेहैं।प्रत्येकपत्थरचारफीटलंबा,दो-दोफीटऊंचावचौड़ाहै।कुल19हजारपत्थरकेपीसआनेहैं।इनपत्थरोंकोमिर्जापुरसेट्रकसेलायागया।अपराह्नसाढ़ेतीनबजेश्रीरामअस्पतालकेसमीपस्थितश्रीरामजन्मभूमिकेद्वारपरपत्थरसेभराट्रकपहुंचातोसंतोंनेइसकास्वागतकिया।

हनुमानगढ़ीकेसंतवनगरनिगमकेपार्षदरमेशदास,विहिपकेमीडियाशरदशर्मावसर्वेश्वरदासनेट्रकपरलोडपत्थरकोमालापहनाई।इसकेबादट्रकपरिसरमेंदाखिलहुआ।इसमौकेपररमेशदासनेकहाकिश्रीरामजन्मभूमितीर्थक्षेत्रट्रस्टकेमहासचिवचंपतरायकीअगुवाईमेंराममंदिरनिर्माणकाकार्यतेजीसेचलरहाहै।कहाकिट्रस्टकेऊपरआरोपलगानेवालेमानसिकरूपसेदिवालियाहैं।जोलोगमंदिरकानिर्माणपहलेरोकरहेथे,वहीआजबाधाडालनेकीकोशिशकररहेहैं।वेनाकामवसमय-समयपरबेनकाबजरूरहोंगे।कहाकिजबमंदिरबनकरतैयारहोजाएगातोइसकीभव्यतावदिव्यतादुनियादेखेगी।इनपत्थरोंकीतराशीकाकार्यमिर्जापुरकेबलुआपत्थरकीकार्यशालामेंचलरहाहै।यहकार्यलार्सनएंडटुब्रोवकरनट्रेडर्सकीदेखरेखमेंहोरहाहै।इनपत्थरोंकोनींवफिलि‍ंगपूरीहोनेकेबादऊपरीहिस्सेमेंलगायाजाएगा।

एकलाख20हजारवर्गफीटक्षेत्रमेंचलरहीफिलि‍ंग: रामजन्मभूमिपरिसरमेंनींवकीढलाईएकलाख20हजारवर्गफीटकेक्षेत्रफलमेंचलरहीहै।इसक्षेत्रकोपहले12मीटरखोदागयाथा,अबसंपूर्णक्षेत्रकीफिलि‍ंगकाकार्यचलरहाहै।कुल42लेयरकीढलाईहोनीहै,जिसमें15लेयरढालीजाचुकीहैं।एकलेयरदसइंचमोटीहै।परिसरमेंदिनराततीनशिफ्टमेंकार्यचलरहाहै।तीनबैचि‍ंगप्लांटलगाएगएहैं।इसीमेंगिट्टी,पत्थरकापाउडर,पत्थरकेकोयलेकीराख,सीमेंटकामिश्रणतैयारकरइसकीढलाईकीजातीहै।

By Doherty