श्रावस्ती:बाढ़कापानीतोवापसनदीमेंपहुंचगया,लेकिनअपनेपीछेमुसीबतोंकापहाड़ग्रामीणोंकेसामनेछोड़गया।पानीकेसाथआएपनसेखेतोंमेंलगीफसलबर्बादहोगईहै।उजड़ेपरिवारफिरसेअपनाआशियानाबनानेमेंजुटेहैं।कईगांवअबभीकटानसेपीड़ितहैं।बीमारीनेभीगांवोंमेंडेराडालनाशुरूकरदियाहै।बाढ़केसाथआईमिट्टीपटजानेसेकईस्कूलअभीभीबंदहैं।

बाढ़केपानीसेहरिहरपुररानी,इकौना,गिलौला,जमुनहावसिरसियाब्लॉकगंभीररूपसेप्रभावितहुआहै।खेतोंमेंबाढ़कापानीभरजानेसेफसलेंबर्बादहोगईहैं।मिट्टीखेतमेंपटीहै।बारिशनहींहुईतोधानकीफसलभीसूखजाएगी।मक्का,मेंथा,अरहरसमेतअन्यफसलेंपहलेहीबर्बादहोचुकीहैं।किसानखेतोंकोदेखकरचिंतितहै।पानीनिकलनेकेसाथहीगांवोंमेंबीमारियोंनेडेराडालनाशुरूकरदियाहै।संदिग्धबुखारकेपीड़ितोंकीसंख्याबढ़नेलगीहै।बाढ़मेंअपनासबकुछगंवाचुकेपरिवारपानीनिकलनेकेबादनएसिरेसेगृहस्थीबसानेकीकोशिशमेंजुटेहैं।

इकौनासंवादसूत्रकेअनुसार-बाढ़कापानीउतरनेकेबादभीकटानथमीनहींहै।राप्तीनदीकातांडवजारीहै।क्षेत्रकेसिसवारा,लालपुरखदरा,कोटवा,मनिकाकोट,लैबुड़वा,भुतहाआदिगांवोंमेंकृषियोग्यभूमिनदीतेजसेनिगलरहीहै।बाढ़केपानीकेसाथआयापनतटवर्तीगांवोंकेलिएमुसीबतबनाहुआहै।गांवोंमेंपटीगंदगीसड़नेसेसंक्रामकबीमारियांदस्तकदेनीलगीहैं।नलवकुएंकापानीदूषितहोगयाहै।यहीपानीपीनेकोलोगमजबूरहैं।

By Dunn