गोंडा:जिलेकीनदियोंकेजलस्तरमेंभलेहीकमीआरहीहो,लेकिनबाढ़पीड़ितोंकीमुश्किलेंनहींकमहोरहीं।बाढ़प्रभावितगांवोंकेलोगोंमेंबीमारियांफैलरहीहैं।फसलेंसड़चुकीहैं।लोगअभीभीतटबंधपरहीशरणलिएहैं।

परसपुरसंवादसूत्रकेअनुसारक्षेत्रकेचरसड़ी,नरायनपुरजै¨सह,शिवगढ,रायपुर,बहुअनमदारमांझा,नंदौर,चंदापुरकिटौली,पसकाउल्टहवामांझा,बरुहामांझावइकनियामांझाजहांबाढ़केपानीसेपूरीतरहसेघिरेहुएहैंवहींतीनपुरवेआंशिकरूपसेप्रभावितहैं।राहतकेंद्रपरतैनातकर्मीकेंद्रछोड़गांवोंमेंजानाजरूरीनहींसमझते।पानीसेघिरेहोनेकेचलतेलोगनावकेअभावमेंकेंद्रतकनहींआपारहेहै।बरुहामांझाकेमहराजदीननेकहाकिउनकेघरमेंकईलोगबीमारहैं।इसीगांवकेरामसमुझनेबतायाकिवहउल्टी-दस्तसेपरेशानहैं,लेकिनइलाजनहींहोपारहाहै।

उमरीबेगमगंजसंवादसूत्रकेअनुसारजलस्तरघटनेकेबादसामान्यहोरहेजनजीवनकेबीचबीमारियोंनेपांवपसारनाशुरूकरदियाहै।बाढ़चौकीऐलीपरसौलीमेंवायरलफीवरसेपरेशान50मरीजोंकोदवावितरितकीगयी।यहांस्वास्थ्यपर्यवेक्षकदेवमणिदुबेमौजूदथे।उन्होंनेबतायाकिजुकामबुखारसेपीड़ितमरीजोंकीसंख्याबढ़रहीहै।डॉक्टरयहांमौजूदनहींरहते।

तरबगंजसंवादसूत्रकेअनुसारनदियोंकेघटनेकासिलसिलाजारीहै।तहसीलमेंतैनातआपदापटलप्रभारीहरिओमनेबतायाकिक्षेत्रमेंसंचालित174नावोंकेसापेक्षचौबीसघंटेकेभीतर102नावोंकोबाढ़कापानीघटनेसेहटायागयाहै।प्रभावित37राजस्वगांवोंमेंसे20सामान्यस्थितिमेंआगएहैं।उन्होंनेबतायाकिमाझाराठ,तुरकौलिया,दुल्लापुर,गोकुला,इंदरपुर,पूरेअंबर,दत्तनगरसहितकुल20गांवसेबाढ़कापानीहटगयाहै।

कर्नलगंजसंवादसूत्रकेअनुसारबाढ़क्षेत्रमेंअबबीमारियोंनेपैरपसारनाशुरूकरदियाहै।सीएचसीअधीक्षकडॉ.सुरेशचंद्रानेबतायाकिदवाएंउपलब्धहैं।

By Evans