लखीमपुर:कईस्थानोंपरबाघोंकीनियमितमौजूदगीहोनेसेग्रामीणोंकीमुश्किलेंबढ़तीजारहीहैं।जिससेधानकीकटाई,चाराकटाई,गन्नाछिलाई,लाही,मसूर,सब्जीआदिकीबुवाई-सिचाईअबकार्यकठिनहोतेजारहेहैं।बाघकेडरसेखेतोंमेंकामकरनेकेलिएनतोमजदूरमिलपारहेऔरनहीकिसानखुदजारहेहैं।कुछमजदूरजानेकीहिम्मतजुटारहेलेकिन,उनकीमहंगीदिहाड़ीकेकारणकिसानभुगताननहींकरपारहेहैं।यहसमस्याक्षेत्रकेसैंकड़ोंकिसानोंकेसामनेहै,जबकिवनविभागकेपासइसकासमाधाननहींहै।

अधिकारीइससेनिजातदिलानेकेबजाएगांवोंमेंगोष्ठीकरकिसानोंकोमानव-बाघसहजीवनअपनानेपरजोरदेरहेहैं।महेशपुररेंजमेंकुल17बाघऔरचारतेंदुएचिन्हितकिएगएहैं।देवीपुरबीटकीपंचायतइब्राहिमग्रंटकेसुंदरपुरइलाकेमेंकठिनानदीकेघमहाघाटतकदोसेतीनबाघोंकीमौजूदगीबताईजारहीहै।इसपरक्षेत्रपंचायतसदस्यरामकुमारवर्मानेकिसानोंकीचितासेअधिकारियोंकोअवगतकरायाहै।वनबुधेलीपंचायतकेग्रामअयोध्यापुरकेपश्चिमवदक्षिणदोबाघोंकीचहलकदमीबनीहुईहै।बाघमित्रअनिलचौहानकिसानोंकोसतर्ककरखेतोंकीओरसमूहमेंजानेकीसलाहदेरहेहैं।जबकिहरछोटे-बड़ेकार्यकेलिएकिसानोंकासमूहमेंजानासंभवनहींहै।महेशपुरबीटकेविहारीपुरवभुइयांमंदिरइलाकेमेंभीदोसेतीनबाघोंकीमौजूदगीबनीहुईहै।वहांसेएकबाघकावीडियोभीवायरलहोचुकाहै।किसानइंद्रजीतसिंहआदिनेइसेदेखाभीहै।इसीबीटकेजमुनहाघाटकेनिकटबाघकीमौजूदगीकीपुष्टिवहांकेकिसानकरचुकेहैं।इनजगहोंपरबाघोंकीचहलकदमीवमवेशियोंकोनिवालाबनानेकीघटनाएंअबआमहोचुकीहैं।एसडीओरविशंकरशुक्लाकहतेहैंकिबाघोंकीमौजूदगीकेकारणहीलोगोंकोगोष्ठियोंकेमाध्यमसेहीजागरूककियाजारहाहै।ताकिघटनाएंनहों।

By Doyle