जवालामुखी,प्रवीणकुमारशर्मा।युद्धऔरप्रेममेंसबजायजहै…जोबाधाआएउससेकिसीभीतरहपारपायाजाए....यहीसोचकरपंजाब,उत्‍तराखंड,गोवाऔरउत्‍तरप्रदेशकेनेताहिमाचलप्रदेशकेकांगड़ाजिलेमेंस्थितबगलामुखीमंदिरपहुंचरहेहैं।माताबगलामुखीकोशत्रुसंहारकदेवीमानाजाताहै।स्थितियहहैकिअपनेप्रतिद्वंद्वियोंकोमातदेनेकेलिएनेतागणनिरंतरआरहेहैं।

कांगड़ाकेबनखंडीमेंस्थितइससिद्धपीठमेंपिछले20दिनोंमेंहीविभिन्नराजनीतिकदलोंके300केकरीबनेताचुनावमेंविजयश्रीकेलिएमाताकेपवित्रहवनकुंडमेंआहुतियांडलवाचुकेहैं।रोचकयहभीरहाकिकईमौकोंपरएकहीविधानसभाकेदो-दोप्रत्याशीमंदिरपरिसरमेंआमने-सामनेहोगए।हवनकेलिएबड़े-बड़ेनेताकतारमेंलगेहैं।भीड़इतनीहैकिपुजारियोंकोनेताओंकोवेटिंगमेंरहनेकोकहनेकेअलावाकोईदूसराविकल्पनहींहै।

सुखबीरबादल,भगवंतमानऔरनवजोतसिद्धूकीपत्‍नीवेटिंगमें

वीरवाररातकोपंजाबकेमुख्‍यमंत्रीचन्नीसेपहलेपूर्वमुख्यमंत्रीकैप्टनअमरिंदरसिंहकेनजदीकीपारिवारिकसदस्योंनेहवनवयज्ञकिया।आमआदमीपार्टीकेराघवचड्डापंजाबमेंपहलीबारपार्टीकीजीतकेलिएएकसप्ताहपहलेहवनकरगएहैं।पूर्वकेंद्रीयमंत्रीवफगवाड़ाविधानसभासेभाजपाकेउम्मीदवारविजयसांपलानेभीबगलामुखीकेदरबरआकरमनोकामनापूरीकरनेकावरदानमांगा।पुजारियोंकीमानेंतोअकालीदलकेअध्यक्षसुखबीरसिंहबादल,आमआदमीपार्टीसेमुख्यमंत्रीचेहराभगवंतमानसमेतनवजोतसिंहसिद्धूकीपत्नीनेभीयज्ञकेलिएसमयमांगाहै।उन्‍हेंअभीप्रतीक्षासूचीमेंरखागयाहै।उत्तरप्रदेश,उत्तराखंडवगोवाकेभीकईउम्‍मीदवारबगलामुखीमेंहवनकरकेचुनावीरणमेंडटेहुएहैं।हवनयज्ञकरनेवालोंमेंसर्वाधिकसंख्‍यापंजाबकेनेताओंकीहै।तांत्रिकअनुष्ठानकेलिएप्रसिद्धशक्तिपीठमेंनेताओंनेअपनेविरोधियोंपरनजररखनेकेलिएअपनेगुप्तचरतकछोड़रखेहैंताकिपताचलसकेकिउनकेविरोधीक्याकररहेहैं।

देशभरमेंहैंतीनबगलामुखीसिद्धपीठ

पूरेभारतमेंमाताबगलामुखीकेतीनहीपीठहैं,जहांतांत्रिकअनुष्ठानोंकेसाथलोगअपनीविजयकीकामनाकरतेहैं।मध्यप्रदेशकेनलखेड़ावदत्तियाकेसाथहिमाचलकाबगलामुखीमंदिरअपनीअलगपहचानरखतेहैं।राजनीतिकदलोंकेनेताचुनावकेलिएटिकटपानेसेलेकरजीतसुनिश्चितहोनेतकदरबारमेंहाजिरीभरतेरहतेहैं।

दसमहाविद्याओंमेंअष्टमविद्याहैंबगलामुखी

पुजारीपंडितदिनेशरत्नकेअनुसारमाताबगलामुखीदसमहाविद्याओंमेंअष्टमविद्याहैं।माताकोब्रह्मास्त्रविद्याभीकहाजाताहै।ब्रह्मास्त्रविद्याअचूकवारहैअतःमाताइसीसेअपनेशिष्योंकीरक्षाकरतींहैं।

इनबड़ेचेहरोंनेमानीमाताकीशक्ति

बगलामुखीमातापरअचूकश्रद्धाकेकारणपंजाबकेमुख्यमंत्रीचरणजीतचन्नीकईसालोंसेमाताकेआराधकहैं।पंजाबकेमुख्यमंत्रीबननेकेबादचन्नीने26दिनोंमेंदोबारपरिवारसहितहवनकियाहै।15मार्च2015कोपूर्वराष्ट्रपतिस्वर्गीयप्रणबमुखर्जीनेमाताहवनकियाथा।1977मेंदेशमेंकांग्रेसकीकरारीहारकेबादपूर्वप्रधानमंत्रीस्वर्गीयइंदिरागांधीनेहवनकिया।नोटफ़ारवोटप्रकरणकेबादतत्कालीनसमाजवादीनेतास्वर्गीयअमरसिंहनेसांसदजयाप्रदाकेसाथहवनकियाथा।कांग्रेसनेता,जगदीशटाइटलर,राजबब्बर,सिनेअभिनेतागोविंदा,प्रसिद्धकामेडियनकपिलशर्मा,पंजाबीगायकगुरदासमान,केंद्रीयमंत्रीस्मृतिईरानीसहितसैकड़ोंराजनीतिकहस्तियांबगलामुखीआतीरहीहैं।

20दिनोंमेंयहबड़ेचेहरेकरवागएहवन

बगलामुखीमंदिरमेंनेताओंकीभीड़केबीचचन्नीकेबेटे,पूर्वमुख्यमंत्रीअमरिंदरसिंहकेनजदीकीवओएसडीसहित,जालंधरसेविधायकराजिंदरबेरी,जालंधरनार्थसेविधायकबाबाहेनरी,कांग्रेसछोड़भाजपामेंआयेगुरुहरसहायसेविधायकवकैप्टनसरकारमेंखेलमंत्रीरहेराणागुरमीतसिंहसोढ़ीआदिप्रमुखहैं।

By Dyer