संवादसहयोगी,किशनगंज:पढ़ाई-लिखाईकरनेवालेविद्याथियोंकेअभिभावकोंपरबढ़तीमहंगाईकाप्रतिकूलअसरहोरहाहै।नीरजाभारतीसातवींकक्षामेंपढ़रहीहै।स्कूलफीस,टयूशनफीस,कंप्युटरकोचिगसहितकईअन्यफीसोंकोमिलाकरकुलवार्षिकखर्च60से70हजाररुपयेकेकरीबआतेहैं।नएवर्गकक्षसातवीेंमेंजानेकेबादपाठ्रयक्रमकेपुस्तक,कापी,कलम,प्रोजेक्टपेपरºरीदनेपरलंबे-चौड़ेबिलबनगए।ऐसीस्थितिमेंबिलअदाकरनेकेसिवाअन्यकोईविकल्पनहीबचा।अबतोलगताहैकिमहंगाईपरविरामलगेगाभीकिनही।यहीहालातरहेतोपरिवारकेआयकाएकबड़ाहिस्सापढ़ाईपरहीखत्महोजाएगा।बाजारस्थितपश्चिमपालीकीसंगीताकुमारीबतातीहैंकिबढ़तीमहंगाईसेशिक्षाभीमहंगीहोतीजारहीहै।निजीसकूलकोसालाना38हजाररुपयेफीसहैं।इसकेअलावाकोचिगफीसअलगसेहै।किताबदुकानदारकेपासगएतोचारहजाररुपयेरुपयेकाबिलबनादिया।वैसेभीनिजीस्कूलकीकिताबदुकानसेखरीदनहीकरेंतोअन्यजगहोंपरमिलेंगेभीनही।यूनिफार्मकीदुकानगएतोड्रेसनिकालकरतीनहजाररुपयेकेबिलबनादिए।स्कूलदूररहनेकेकारणबससेवालेनासमयकीजरूरतहै।स्कूलप्रबंधननेएकसालकाबसभाड़ा12हजारबतादिए।स्कूलकेप्रोजेक्टकेनामपरसालमेंदो-तीनहजाररुपयेखर्चहोजातेहैं।सोचकरफ्रिकबढ़जातीहैकिबच्चेजबस्कूलीशिक्षापूरीकरउच्चशिक्षालेंगे।उससमयपढ़ाईकाखर्चकितनाऔरबढ़जाएगा।कोरोनाकालमेंचौथीकक्षरकीफीस25हजारहुआकरतेथे।अबतोदूसरेबच्चेकीपढ़ाईकेलिएऔरभीअधिकराशिखर्चकरनेपड़ेंगे।--------निजीस्कूलएसोसिएशनकेअध्यक्षसिफरसैयदहाफीजनेबतायाकि2020-21और2021-22सत्रमेंस्कूलोंमेंकोईफीसनहीबढ़ाईगई।इसवित्तीयवर्षमेंसातसेलेकरदसफीसदतकफीसबढ़ेहैं।जिलेकेअधिकरस्कूलोंमेंआठफीसदहीफीसबढ़ेहैं।-----

यूनिफार्ममेंकमीशनकाखेलयूनिफार्मकेकीमतपिछलेदोवर्षोंमें20फीसदतकबढ़गएहैं।इसमेंकमीशनकाभीअससरहै।दुकानदारश्यामआनंदबतातेहैंकिसामान्यस्कूलोंकेयूनिफार्म750सेलेकर950रुपयेतकमेंआतेहैं।सर्दीवालेयूनिफार्ममहंगेहोजातेहैं।सर्दीकेएकजोड़ीयूनिफार्मकीकीमत2500रुपयेआतेहैं।बीतेवर्ष2020में500रुपयेऔर2021में575मेंएकजोड़ायूनिफार्मबनजातेथे।--------

बसकाकिराया1200स्कूलसेदूररहनेवालेमोहल्लाकेबच्चेबससेस्कूलआतेहैं।एसोसिएशनकेअनुसारस्कूलबसअधिकतरपांचसेदसकिमीतकजातेहैं।पहलेस्कूलबसकाकिराया900प्रतिमहीनाथा।डीजलकेकीमतबढ़जानेकेकारणबसकिरायाबढ़ाहै।--------

लोगोंकीराय---आयसीमितबढ़रहीमहंगाईकोरोनाकालमेंबच्चोंकीपढ़ाईआनलाइनचली।लेकिनस्कूलीफीसमेंकोईछूटनहीमिला।अबनएसत्रमेंस्कूलोंकेफीसबढ़गएहैं।शिक्षकोंकोसमयपरवेतनदेनेकीबातकहकरस्कूलप्रबंधनफीसकोबढ़ादिएहैं।चिकित्सककीफीसभी100सेलेकर150तकबढ़गएहैं।

सुबोधकुमार,--------स्कूलीफीसकेसाथदवाकीकीमतबढ़ीनएसत्रमेंस्कूलीफीसबढ़नेकेसाथकिताबऔरकापीकीकीमतभीबढ़गएहैं।दवाओंकीकीमतभीपहलेसेअधिकहोगएहैं।वहींडाक्टरभीअपनीफीसबढ़ादिए।सभीडाक्टरोंकीअपनीअलग-अलगफीसनिर्धारितहै।आमदनीस्थिररहनेऔरखर्चबढ़नेसेलोगोंकाबजटडगमगानेलगाहै।

--रीनासाहा,धर्मगंज।

By Dodd