जागरणसंवाददाता,यमुनानगर:

मार्चमाहसेवायरलकेमरीजबढ़रहेहैं।इसीमाहमेंकोरोनाकेसबसेअधिकसंक्रमितमिलेहैं।ट्रॉमासेंटरकीओपीडीकीबातकरें,तोमार्चमेंजनरलओपीडीमें6020मरीजपहुंचे,जबकिफरवरीमेंयह4670थी।इसमेंपेटदर्द,बुखार,खांसीसेसंबंधितमरीजआतेहैं।ऐसेमरीजोंमेंकोरोनाकाखतराभीरहताहै,क्योंकिकोरोनाकेलक्षणभीलगभगयहीहोतेहैं।हालांकिपंचकर्मवयोगाविभागमेंमरीजोंकीसंख्याकमहुईहै।

कोरोनासंक्रमणनेहरवर्गकोप्रभावितकियागयाहै।व्यापारसेलेकरआमलोगोंकेस्वास्थ्यपरकोरोनासंक्रमणकाप्रत्यक्षवअप्रत्यक्षरूपसेअसरपड़रहाहै।मार्चमेंकोरोनानेरफ्तारपकड़ी,तोअस्पतालोंकीओपीडीमेंभीमरीजोंकीसंख्याबढ़गई।यहांतककिमनोरोगविशेषज्ञोंकेपासभीओपीडीबढ़ीहै।ऐसेमरीजचिकित्सकोंकेपासपहुंचरहेहैं।जोबार-बारहाथोंकोसैनिटाइजकरनेकीमनोदशाकाशिकारहोरहेहैं।छहजनरलसर्जरीहुई

अस्पतालमेंआनेवालेमरीजोंकोपहलेकोरोनाकाटेस्टअनिवार्यरूपसेकरानाहै।डाक्टरकोदिखानेकेलिएपहलेकोरोनाटेस्टकराकरआनाहोगा।वहींसर्जरीतभीहोगी।जबकोरोनाकीरिपोर्टनेगेटिवआएगी।यहीवजहहैकिमार्चमाहमेंकेवलछहहीसर्जरीहुईहैं।फरवरीमाहमेंमात्रतीनसर्जरीहुईथी।इसकीएकवजहयहभीहैकिकोरोनाकीरिपोर्टआनेमेंदोसेतीनदिनलगजातेहैं।पंचकर्मऔरयोगाकीओपीडीहुईकम

जिलाअस्पतालमेंपंचकर्मऔरयोगाकीओपीडीमेंकमीआईहै।फरवरीमाहमेंपंचकर्मविभागमेंमरीजोंकीसंख्या168थी।मार्चमेंयहघटकर140रहगईहै।योगामेंफरवरीमाहमें179ओपीडीहुईथी।अबमार्चमाहमेंयह111रहगईहै।यहहैट्रॉमासेंटरमेंदोमाहकीओपीडी:

विभाग-फरवरी-मार्च-बढ़ेमरीज

जनरलमेडिसन-4670-6020-1350

जनरलसर्जरी-03-06-03

हेल्थचेकअप-852-1237-385

प्रसूतिएवंस्त्रीरोगविशेषज्ञ-403-650-247

दंतचिकित्सा-752-925-173

इमरजेंसी-1464-1950-496

फ्लूक्लीनिक-69-107-38

कैंसरविभाग-109-158-49

फिजियोथैरेपी-474-608-134

मनोरोग-1520-2409-889मौसममेंबदलावकेकारणबढ़रहेवायरलकेमरीज

ट्रामासेंटरकेफिजिशियनडा.नितिनगुप्तानेबतायाकिफिलहालमौसममेंबदलावहोरहाहै।इसमेंवायरलकेमरीजबढ़रहेहैं।कोरोनाभीएकवजहहै।अबयदिकिसीकोहल्कासाजुकामयाखांसीहै,तोवहतुरंतअस्पतालमेंआरहाहै।इसकाअसरओपीडीपरभीपड़रहाहै।