बलरामपुर:क्षेत्रमेंबेसहारापशुओंसेकिसानोंकीफसलेंखराबहोरहीहैं।पशुओंकेझुंडखेतोंमेंलगीगेहूं,सरसों,मसूर,अरहर,गन्ना,सब्जीकीफसलकोखानेकेसाथपैरोंसेरौंदडालतेहैं।इससेआजिजकिसानोंनेसरसोंवमसूरकीखेतीकरनेसेमुंहमोड़लियाहै।भीषणठंडमेंरातकोजागकरखेतोंकीरखवालीकरतेहैं।ओमप्रकाशयादव,पप्पूश्रीवास्तव,विजयकुमार,ननकेवर्मावराजूनेबतायाकिपलकझपकतेहीपशुओंकाझुंडखेतोंमेंलगीफसलकोचटकरजातेहैं।अजयतिवारीवहरीरामकाकहनाहैकिपशुओंकेझुंडसेअबतककईलोगचोटहिलहोचुकेहैं।बावजूदइसकेसमस्याकानिस्तारणनहींहोपारहाहै।खंडविकासअधिकारीराजेशकुमारनेबतायाकि14न्यायपंचायतोंमेंबेसहारापशुओंकाआश्रयस्थलबनायाजारहाहै।शीघ्रहीकिसानोंकोबेसहारापशुओंसेनिजातमिलजाएगी।

By Ellis