जागरणसंवाददाता,झज्जर:झज्जरजिलावीरोंकीभूमिकेनामसेजानाजाताहै।क्योंकिझज्जरजिलासेभारतीयसेनाओंमेंकरीब17हजारजवानकार्यरतहैंऔरकरीब35हजारजवानसेनासेसेवानिवृतहोचुकेहैं।अबयहांकेबेटेहीनहींबेटियांभीसेनामेंऑफिसरबनरहीहैं।आजकेयुगमेंबेटियांकिसीभीक्षेत्रमेंबेटोंसेकमनहींहैं।चाहेखेलकाक्षेत्रहोयाफिरसेनामेंअधिकारीकेपदपरनियुक्तिकीबातहो।बेटियांअपनीकामयाबीकेझंडेगाड़रहीहैं।अकेहड़ीमदनपुरगांवकीनीतूजांगड़ाकरीबछहमाहपूर्वसेनाकीमेडिकलकोरमेंलेफ्टिनेंटपदपरनियुक्तहुईथी।उनकेपिताबलवान¨सहभीफौजीरहेहैं।

नीतूजांगड़ाने8फरवरीकोबिहारकीराजधानीपटनास्थितदानापुरछावनीमेंएमएनएसकेरूपमेंकमीशनप्राप्तकियाथा।इससेपहलेनीतूरोहतकस्थितपीजीआईमेंएमएससीनर्सिंगकररहीथी।

फौजीपिताकीराहपरचलीबेटी

नीतूकेपिताबलवान¨सहभीभारतीयसेनामें24वर्षकीसेवाकेपश्चातसूबेदारकेपदसेसेवानिवृतहुएहै।पिताबलवान¨सहनेबतायाकिनीतूबचपनसेहीपढ़ाईमेंहोनहारथी।होनहारहोनेकेसाथवहसेनाकीवर्दीकोपसंदकरतेहुएकहतीथीकिबड़ीहोकरसेनामेंजाएगीऔरदेशकानामरोशनकरेगी।जिसकेलिएउसनेमेहनतभीखूबकीऔरसुखदपरिणामभीसामनेआगयाहै।उन्होंनेआमजनकोभीआह्वानकरतेहुएकहाकिवेअपनीबेटियोंकोजरूरपढ़ाएऔरआगेबढ़ाए।ताकिबेहतरशिक्षाकेरूपमेंमिलनेवालीसौगातउन्हेंजीवनपर्यंतआगेबढ़नेकीप्रेरणादेगी।समयरहतेउन्होंनेतोइसबातकोसमझलियाथा।लेकिनआजभीबहुतसेअभिभावकऐसेहैजोकिअपनीबेटियोंकीपढ़ाईकीअहमियतकोगंभीरतासेनहींसमझते।जोकिसबसेजरूरीविषयहै।

बेटियांहोंगीशिक्षिततोबदलेगासमाज

नीतूकाकहनाहैकिआजबेटियांहरक्षेत्रमेंआगेबढ़तीजारहीहैं।अगरहौंसलेबुलंदहोतोबड़ीसेबड़ीमंजिलकोआसानीसेप्राप्तकियाजासकताहै।इसलिएबेटियोंकोकमजोरनहींसमझनाचाहिए।अभिभावकोंकोबेटियोंकोभीअच्छीशिक्षादिलानीचाहिए।बेटियांशिक्षितहोंगीतोसमाजमेंबदलावआएगाऔरस्वावलंबीबननेकेसाथ-साथएकअच्छेभविष्यकाभीनिर्माणकरेंगी।

By Duffy