मैनपुरी:शहरकीपॉशकॉलोनीआवासविकासमेंस्थितआंगनबाड़ीकेंद्रकेपासअपनाखुदकाकोईभवननहींहै।केंद्रपर42बच्चेपंजीकृतहैं।निजीभवनकेअभावमेंपंजीकृतबच्चोंकोपरिसरमेंहीलगेवृक्षकीछांवमेंबिठाकरविद्यार्जनकरायाजाताहै।अबसर्दियांबढ़नेपरबच्चोंनेप्राथमिकविद्यालयकेकमरोंमेंशरणलीहै।

मुहल्लाछपट्टीमेंपानीकीटंकीकेपासनवीनकन्याप्राथमिकविद्यालयनगरक्षेत्रमेंसंचालितहोनेवालेदोआंगनबाड़ीकेंद्रोंकेपासभीअपनेस्वयंकेभवनोंकाअभावहै।यहांपंजीकृत80बच्चोंकोभीपरिषदीयविद्यालयोंकेकमरोंमेंशरणलेकरज्ञानप्राप्तकरनापड़ताहै।

येतोमहजदोकेंद्रोंकेउदाहरणमात्रहैं।जिलेमेंसंचालितहोनेवाले1788आंगनबाड़ीकेंद्रोंमेंसेमहजतीनसैकड़ाकेपासअपनेसरकारीभवनहैं।शेषसभीयातोकिराएकेकमरोंमेंसंचालितहोरहेहैंयाफिरपरिषदीयस्कूलोंकेकमरोंमेंकेंद्रोंकेबच्चेशरणलिएहुएहैं।जिलेमेंकेंद्रोंकीस्थितिपूरीतरहसेबदहालहै।आवासविकासकॉलोनीकेसेक्टरएकमेंसंचालितकेंद्रमेंपंजीकृतबच्चोंकोखुलेमेंवृक्षकेनीचेबैठाकरपढ़ायाजाताहै।जिलाकार्यक्रमअधिकारीकार्यालयसेमिलीजानकारीकेअनुसारपूर्वमेंकुल118भवनोंकानिर्माणकरायाजाचुकाहै।जबकि147भवनोंकानिर्माणकार्यप्रगतिपरहै।

आंगनबाड़ीकार्यकर्तानेबतायाकिहरबारनिरीक्षणकेदौरानवेआलाधिकारियोंसेसुविधाओंकादुखड़ारोतेहैं।लेकिन,हरबारआश्वासनदेकरअधिकारीअपनापल्लाझाड़लेतेहैं।स्थितियहहैकिबच्चोंकेबैठनेकेलिएनतोटाटपट्टियांहैंऔरनहीकुर्सीमेजआदि।पुष्टाहारकावितरणभीबंदकरदियागयाहै।ऐसेमेंबच्चोंकोसिर्फपंजीरीदेकरउन्हेंकमरोंमेंबैठायाजारहाहै।

'आंगनबाड़ीकेंद्रोंमेंशिक्षणव्यवस्थाकोबेहतरबनानेकेलिएहरसंभवप्रयासकिएजारहेहैं।यहसचहैकिसुविधाओंकाअभावहै।इससंबंधमेंविभागकेउच्चाधिकारियोंकोभीपत्रलिखेगएहैं।हमारेपासजोभीसुविधाएंहैं,उनसेबच्चोंकोलाभान्वितकरनेकाकार्यकरायाजारहाहै।ठंडसेबचानेकेलिएइंतजामकराएजाएंगे।'विजयप्रताप

जिलाबेसिकशिक्षाअधिकारी

By Dyer