बहादुरगढ़,जेएनएन:दिवालीकेबादआनेवालेछठपर्वकेलिएतैयारियांअभीसेशुरूहोगईहैं।दिल्लीसेसटेबहादुरगढ़मेंस्थायीऔरअस्थायीतौरपररहरहेएकलाखसेज्यादापूर्वांचलवासीछठपर्वमनाएंगे।इसकेलिएकईजगहअस्थायीपूजाघाटभीबनेंगे।इसकेलिएसफाईकाकामशुरूहोगयाहै।कोरोनाकीशुरुआतमेंतोअधिकतरपूर्वांचलवासीअपनेमूलठिकानोंकीओरलौटगएथे।मगरअबकईमहीनोंसेउनकीलगातारवापसीहोरहीहै।यहांकेतमामउद्योगोंमेंपूर्वांचलकेकामगारहीज्यादाहैं।कामगरोंकेआनेसेअबउद्योगोंमेंउत्पादनभीजोरपकड़रहाहै।साथहीछठपर्वपरभीउत्साहदिखेगा।

18नवंबरसेहोगीपर्वकीशुरुआत

चारदिनोंतकमननेवालेइसपर्वकीशुरुआतइसबार18नवंबरकोहोगी।अस्ताचलसूर्यकोअर्घ्य20नवंबरकोदियाजाएगा।21नवंबरकीसुबहयहउत्सवसंपन्नहोगा।इसपर्वकेलिएज्यादातरसामग्रीभीपूर्वांचलसेहीआतीहै।इसउत्सवपरसामूहिकआयोजनकेलिएबहादुरगढ़मेंकईसंगठनभीबनचुकेहैं।चूंकिशहरकेअंदरतालाबतोनहीं,एेसेमेंनहरोंऔरड्रेनोंपरहीपूर्वांचलवासीसूर्यकोअर्घ्यदेतेहैंं।

बिहारराज्‍यकेनिवासीअजीतश्रीवास्तवनेबतायाकिबहादुरगढ़मेंबड़ीसंख्यामेंपूर्वांचलकेलोगदो-तीनदशकसेस्थायीतौरपररहरहेहैं।स्थानीयजनप्रतिनिधियोंसेमिलकरपूजाघाटोंकोलेकरतैयारियांशुरूकरदीगईहैं।वहींप्रदीपसिन्हानेबतायाकिअबकीबारभीयहपूर्वपूरेउत्साहकेसाथमनेगा।कोरोनाकोलेकरइसबारशारीरिकदूरीकाभीख्यालरखाजाएगा।शहरकेपंडितनारायणभारद्वाजनेबतायाकिइसपर्वपरसूर्यभगवानकीउपासनाकीजातीहै।इसबारग्रहनक्षत्रोंकाशुभयोगभीबनरहाहै।