नईदिल्ली,एएनआइ।भारतमेंकोविडकीस्थितिबेहतचिंताजनकहै।आएदिनआरहेलाखोंनएमामलोंसेस्वास्थ्यव्यवस्थाचरमरागईहै।बेड, ऑक्सीजन,दवाएंयहांतककीदेशमेंवैक्सीनकोलेकरभीदिक्कतेंसामनेआरहीहै।अच्छीबातयहहैकिसोमवारकोजारीहुएआंकड़ोंकेमुताबिक,पिछले2दिनोंकेमुकाबलेनएमामलोंमेंगिरावटदेखीगईहै।वहीं,कोरोनाकोहरानेकेलिएउठाएजारहेकदमऔरतैयारियोंऔरताजाअपडेटकोलेकरस्वास्थ्यमंत्रालयद्वाराजानकारीदीगईहै।इसदौरान केंद्रीयस्वास्थ्यमंत्रालयकेसंयुक्तसचिव,लवअग्रवालनेबताया,'देशकीकुलसंचयीमृत्युदरलगभग1.10%है।'

उन्होंनेबताया,'देशमेंअबतक81.77%मामलेठीकहुएहैं।देशमेंकरीब34लाखसक्रियमामलोंकीसंख्याबनीहुईहै।अबतकसंक्रमणसे2लाखकेकरीबमृत्युदर्ज़कीगईहै।पिछले24घंटेमेंदेशमें3,417लोगोंकीमृत्युदर्ज़कीगईहै।'वहीं,अग्रवालनेआगेजानकारीदेतेहुएकहाकिदेशमें12राज्यऐसेहैंजहां1लाखसेभीज्यादासक्रियमामलेहैं।7राज्योंमें50,000से1लाखकेबीचसक्रियमामलोंकीसंख्याबनीहुईहै।17राज्यऐसेहैंजहां50,000सेभीकमसक्रियमामलोंकीसंख्याबनीहुईहै।

बतायागयाकिकुछराज्योंमेंCOVIDकेमामलोंमेंबढ़तदेखीजारहीहै।इनराज्योंकोआवश्यकसावधानीबरतनीचाहिए।आंध्रप्रदेश,असम,बिहार,चंडीगढ़,हरियाणा,कर्नाटककेरल,हिमाचलप्रदेश,मणिपुर,मेघालय,यहवहराज्यहैं।बतादेंकिफिलहाल12राज्योंमें18सेऊपरकेलोगोंकोवैक्सीनलगाईजारहीहै।

नएमामलोंमेंदिखरहीकमी

स्वास्थ्यमंत्रालयनेकहाकिदिल्ली,मध्यप्रदेशसहितकुछराज्यऐसेभीहैं,जहांनएमामलोंमेंकमीकेशुरुआतीसंकेतदिखारहेहैं।उन्होंनेआगेकहािकहमरिकवरियोंमेंभीएकसकारात्मकदृष्टिकोणदेखरहेहैं।2मईको,रिकवरीदर78%थीऔर3मईकोयहलगभग82%तकचढ़गई।येशुरुआतीलाभहैंजिनपरहमेंनियमितरूपसेकामकरनाहै।

स्वास्थ्यमंत्रालयनेकहा,'हमचिकित्साप्रयोजनोंकेलिएगैसीयऑक्सीजनकाउपयोगकरनेकीयोजनाबनारहेहैं।औद्योगिकइकाइयांजोऑक्सीजनबनातीहैंऔरजोचिकित्साउद्देश्यकेलिएउपयुक्तहैंऔरशहरोंकेपासहैं,हमअस्थायीCOVIDकेयरकेंद्रबनानेकीयोजनाबनारहेहैंजिनकेचारोंओरऑक्सीजनकेबेडहों।'

पर्याप्तमात्रामेंऑक्सीजनउपलब्ध

गृहमंत्रालयकेएडिशनलसेक्रेटरीबोले,'देशमेंपर्याप्तमात्रामेंऑक्सीजनउपलब्धहै।एकअगस्त2020कोऑक्सीजनकाउत्पादनदेशमें5,700मीट्रिकटनथा,जोअबलगभग9,000मीट्रिकटनहोगयाहै।हमविदेशोंसेभीऑक्सीजनकाआयातकररहेहैं।'हालांकि,दावोंसेउलटदेशकीराजधानीसेहीआएदिनऑक्सीजनकीकमीकोलेकरचिंताजताईजारहीहै।

सीटीस्कैनकरानाखतरनाक

एम्सकेनिदेशक,डॉ.रणदीपगुलेरियानेकहा,'आजकलबहुतज़्यादालोगसीटीस्कैनकरारहेहैं।जबसीटीस्कैनकीजरूरतनहींहैतोउसेकराकरआपखुदकोनुकसानज़्यादापहुंचारहेहैंक्योंकिआपखुदकोरेडिएशनकेसंपर्कमेंलारहेहैं।इससेबादमेंकैंसरहोनेकीसंभावनाबढ़सकतीहै।'वहीं,उन्होंनेआगेकहाकिहोमआइसोलेशनमेंरहरहेलोगअपनेडॉक्टरसेसंपर्ककरतेरहें।सेचुरेशन93याउससेकमहोरहीहै,बेहोशीजैसेहालातहैं,छातीमेंदर्दहोरहाहैतोएकदमडॉक्टरसेसंपर्ककरें। गुलेरियानेकहाकिवायरसकाम्यूटेंटकोईभीहोहमकोविडउपयुक्तव्यवहाररखें।वायरसइंसानसेहीइंसानमेंफैलरहाहैऔरट्रीटमेंटप्रोटोकॉलभीवोहीहैं।

By Ellis