बेंगलुरु,प्रेट्र।प्रमुखवैज्ञानिकप्रोफेसरसीएनआररावनेकोविड-19केकारणस्कूलोंकेबंदरहनेकेदौरानछात्रोंकेलिएऑनलाइनकक्षाएंशुरूकरनेपरनाखुशीजाहिरकी।रावनेकेजी,फ‌र्स्टऔरसेकेंडग्रेडकेबच्चोंकीऑनलाइनकक्षाएंबंदकरनेकोकहा।

उन्होंनेबेहतरसंवादऔरबच्चोंकोप्रेरितकरनेकेलिएआमने-सामनेहोनेकेमहत्वकोरेखांकितकिया।अनलॉक1दिशानिर्देशकेतहतकईतरहकीछूटदिएजानेपरअपनीनाराजगीजाहिरकरनेमेंभीउन्होंनेकुछनहींछिपाया।उन्होंनेसंकेतदियाकियेकदमबहुतपहलेउठाएगएहैं।

लॉकडाउनतीनएवंचारकेबादजिसहड़बड़ीमेंछूटदीगई,उससेहैंचिंतित

रावनेकहा,'मुझेइसबातमेंकोईसंदेहनहींकिवैक्सीनहीमहामारीकासमाधानहोगी।मुझेलगताहैकिशायदयह2021केशुरूमेंउपलब्धहोसकेगी।'2014मेंभारतरत्नसेसम्मानितवैज्ञानिकप्रोफेसररावजवाहरलालनेहरूसेंटरफॉरएडवांससाइंटिफिकरिसर्चकेमानदअध्यक्षहैं।

उन्होंनेकहाकिलॉकडाउनतीनएवंचारकेबादजिसहड़बड़ीमेंछूटदीगईहैउसेलेकरवहचिंतितहैं।प्रोफेसरनेजोरदेकरकहाकिहमेंवायरसकासंक्रमणफैलनेसेरोकनेकेकदमकेमुद्देपरफिरसेविचारकरनाहोगा।कोविड-19केखिलाफसंघर्षमेंशिक्षितोंद्वाराअनुशासनतोड़ेजानेसेदुखीहैं।हमेंयहस्वीकारकरनाहोगाकिस्वीडनकीतरहहमअनुशासितनहींहैं।उनलोगोंनेबिनाबाध्यकिएशारीरिकदूरीकापालनकिया। गौरतलबहैकिमहाराष्ट्र,केरलसहितनार्थ-ईस्टकेकईराज्योंनेजूनसेहीस्कूलीगतिवधियोंकोशुरूकरनेकेसंकेतदिएहै।ऐसेमेंएचआरडीमंत्रालयभीसेफ्टीगाइडलाइनकोजल्दजारीकरनेकीतैयारीमेंहै।

माता-पितास्कूलखोलनेकेपक्षमेंनहीं,केंद्रकोभेजीअर्जी

उधर,देशभरमेंदोलाखसेज्यादामाता-पितानेकेंद्रसरकारकोभेजीअर्जीपरहस्ताक्षरकरकेकहाहैकिजबतककोविड-19केहालातसुधरनहींजातेयाउसकीवैक्सीनतैयारनहींहोजाती,तबतकस्कूलनहींखोलेजानेचाहिए।करीब2.13लाखमाता-पिताद्वाराहस्ताक्षरितयहअर्जीऐसेसमयभेजीगईहैजबकेंद्रसरकारनेघोषणाकीहैकिस्कूलों,कॉलेजों,कोचिंगसेंटरोंऔरअन्यशिक्षणसंस्थाओंकोजुलाईमेंराज्योंऔरकेंद्रशासितप्रदेशोंकेसाथकोरोनावायरसकेहालातकीचर्चाकेबादखोलाजाएगा।

By Douglas