जागरणसंवाददाता,सिलीगुड़ी:दीपावलीकोलेकरपूजनसामग्रीसेबाजारसजाहुआहै।जहापरखरीदारोंकीभीड़देखीजासकतीहै।इसीकड़ीकेतहतभगवानगणेश-लक्ष्मीकीछोटीछोटीमूíतयोंसेबाजारसजाहुआहै।इनमूíतयोंकोविशेषतौरपरकृष्णानगरसेमंगायाजाताहैजोअपनीखूबसूरतकारीगरीकीवजहसेबेहदपसंदकीजातीहै।वहींपीतलऔरचादीसेबनेगणेशलक्ष्मीकीछोटी-छोटीमूर्तियोंकीभीबेहदमागहै।जिन्हेंश्रद्धालुबहुतहीश्रद्धाभावकेसाथखरीदरहेहैंइसीक्रममेंभगवानगणेशऔरलक्ष्मीजीकीएकसेएकखूबसूरतपोशाकउतारीगईहैं।जिनपरगोटातारेसितारेइत्यादिसेसजावटकीगईहैदेवीलक्ष्मीकेश्रृंगारकेलिएएकसेखूबसूरतसामग्रीउतारीगईहैं।फूलोंकीमाला,शुभ-लाभकीबिक्रीभीजोरोंपररही।इसकेअलावाबिजलीकीझालरभीउपलब्धहै।जिन्हेंश्रद्धालुअपनेबजटकेअनुरूपखरीदतेदेखेगए।इसकेअलावारोली,मोलीकीभीबेहदमागहैं।रेडीमेडअल्पनाभीखूबबिकरहीहैपूजाकोलेकरश्रद्धालुओंकाउत्साहदेखनेलायकहै।वहींघरोंकोऔरप्रतिष्ठानोंकोसजानेकेलिएएकसेएकखूबसूरतबिजलीकीझालरभीबिकरहीहै।श्रद्धालुओंकाकहनाहैकिवेबहुतहीश्रद्धाभावसेलक्ष्मीकाआह्वानकरतेहैं।ताकिपरिवारमेंसुख-शातिबनीरहेऔरसाथहीलक्ष्मीजीकीकृपाबनीरहे।

----------------जागरणसंवाददाता,सिलीगुड़ी:दीपावलीकोलेकरपूजनसामग्रीसेबाजारसजाहुआहै।जहापरखरीदारोंकीभीड़देखीजासकतीहै।इसीकड़ीकेतहतभगवानगणेश-लक्ष्मीकीछोटीछोटीमूíतयोंसेबाजारसजाहुआहै।इनमूíतयोंकोविशेषतौरपरकृष्णानगरसेमंगायाजाताहैजोअपनीखूबसूरतकारीगरीकीवजहसेबेहदपसंदकीजातीहै।वहींपीतलऔरचादीसेबनेगणेशलक्ष्मीकीछोटी-छोटीमूर्तियोंकीभीबेहदमागहै।जिन्हेंश्रद्धालुबहुतहीश्रद्धाभावकेसाथखरीदरहेहैंइसीक्रममेंभगवानगणेशऔरलक्ष्मीजीकीएकसेएकखूबसूरतपोशाकउतारीगईहैं।जिनपरगोटातारेसितारेइत्यादिसेसजावटकीगईहैदेवीलक्ष्मीकेश्रृंगारकेलिएएकसेखूबसूरतसामग्रीउतारीगईहैं।फूलोंकीमाला,शुभ-लाभकीबिक्रीभीजोरोंपररही।इसकेअलावाबिजलीकीझालरभीउपलब्धहै।जिन्हेंश्रद्धालुअपनेबजटकेअनुरूपखरीदतेदेखेगए।इसकेअलावारोली,मोलीकीभीबेहदमागहैं।रेडीमेडअल्पनाभीखूबबिकरहीहैपूजाकोलेकरश्रद्धालुओंकाउत्साहदेखनेलायकहै।वहींघरोंकोऔरप्रतिष्ठानोंकोसजानेकेलिएएकसेएकखूबसूरतबिजलीकीझालरभीबिकरहीहै।श्रद्धालुओंकाकहनाहैकिवेबहुतहीश्रद्धाभावसेलक्ष्मीकाआह्वानकरतेहैं।ताकिपरिवारमेंसुख-शातिबनीरहेऔरसाथहीलक्ष्मीजीकीकृपाबनीरहे।

By Doherty