महावीरयादव,गुरुग्राम

पाराचढ़नेकेसाथहीबिजलीकटौतीसेशहरमेंबुधवाररातब्लैकआउटजैसीस्थितिरही।बृहस्पतिवारदिनमेंभीबिजलीकटौतीहुई।बिजलीकटौतीकेचलतेसुबहपानीकीआपूर्तिभीनहींहोपाई।शहरमेंसुबह-सुबहपानीकेलिएभीहाहाकारमचगया।बिजलीकीखपतबढ़नेपरघोषितकटकेसाथहीअघोषितकटकेकारणभीबिजलीकीसमस्याखड़ीहोगई।बिजलीनिगमकेअधिकारीभीबिजलीकटौतीकीउपभोक्ताओंकोसहीजानकारीउपलब्धकरानेकीस्थितिमेंनहींहै।

बिजलीकिल्लतकेकारणबिजलीनिगमनेदोदिनपहलेसभीशहरीफीडरपर45मिनटपावरकटकानिर्णयलियाथा।बुधवाररातबिजलीकटौतीकीबड़ीकिल्लतखड़ीहोगई।शहरीक्षेत्रसेलेकरऔद्योगिकइकाइयोंतथाग्रामीणक्षेत्रोंकीबिजलीबंदरही।बुधवाररातकोघरोंमेंएसीचलनेकेसाथहीजैसे-जैसेबिजलीकीखपतबढ़ी,बिजलीकटौतीशुरूहोगई।रात11बजेकेबादअधिकतरइलाकोंमेंबिजलीकाटदीगई।उसकेबादसुबहतकबिजलीगायबहै।निगमकेअधिकारियोंकेमुताबिकरातकोशहरीफीडरपर2.35घंटेकापावरकटरहा।इंडस्ट्रियलफीडरपर10घंटेकापावरकटलगायागयाहै।रातकोचलनेवालीअधिकतरइकाइयांपावरकटकेचलतेबंदरहीं।बड़ीकंपनियोंनेजेनरेटरसेटकेसहारेकामचलाया।

पावरकटकेकारणपानीआपूर्तिबाधित

शहरमेंरातभरबिजलीकटौतीकेचलतेअधिकतरबूस्टरस्टेशनमेंपानीकीआपूर्तिनहींहोपाई।सुबह5.30परएकघंटेकापावरकटलगायागया।इससमयलोगोंकोपानीआपूर्तिकरनेवालीलगभगसभीएजेंसियांपानीआपूर्तिकरतीहैं।पावरकटकेकारणअधिकतरइलाकोंमेंपानीआपूर्तिबाधितरही।पानीनामिलनेकेकारणभीशहरमेंहाहाकारमचाहै।

खपतबढ़नेसेपैदाहुईबिजलीकीकिल्लत

गुरुग्राममेंअन्यजिलोंकेमुकाबलेबिजलीकीसबसेज्यादाखपतहै।इससमयदक्षिणहरियाणाबिजलीवितरणनिगम1126किलोवाटबिजलीउपभोक्ताओंकोआपूर्तिकररहाहै।जनवरीकेमुकाबलेयहलगभगदोगुनाहै।जनवरीमें648किलोवाटरोजानाबिजलीकीमांगथी।फरवरीमेंयहमांगबढ़कर718किलोवाटप्रतिदिनऔरमार्चमें713किलोवाटप्रतिदिनरही।अप्रैलकेमध्यमेंबिजलीआपूर्तिकीखपत1126किलोवाटतकपहुंचगई।बिजलीनिगमकेसर्कल-वनमेंबिजलीउपभोक्ताओंको135लाखयूनिट10अप्रैलकोआपूर्तिकीगई।सर्कल-टूमें161.51लाखयूनिटबिजलीआपूर्तिकीगई।दोनोंसर्कलमें296.51लाखयूनिटआपूर्तिकीगई।11अप्रैलकोयहखपत308.95लाखयूनिटतकपहुंचगई।27अप्रैलकोबिजलीकीखपतबढ़कर322लाखयूनिटतकपहुंचगई।26तथा27अप्रैलकोबिजलीकीखपत1418किलोवाटतकपहुंचगई।गुरुग्रामकहनेकोहीसाइबरसिटीऔरमिलेनियमसिटीहै।पूरी-पूरीरातबिजलीगुलरहतीहै।छोटे-छोटेफाल्टहोनेपरभीकईकईघंटेठीकनहींहोपातेहैं।सोसायटीकेलोगोंकोजनरेटरसेटकी30-30रुपयेप्रतियूनिटकीबिजलीखरीदनीपड़रहीहै।बिजलीनिगमकेअधिकारीबिल्कुलभीगंभीरनहींहै।

ममतायादव,निवासी,सेवनलैंप्ससोसायटी(सेक्टर-82)

बिजलीकाबुराहालहै।पांचसेआठघंटेबिजलीकटौतीहोरहीहै।लंबे-लंबेकटलगरहेहैं।जनरेटरकेमाध्यमसेआपूर्तिहोनेवालीमहंगीबिजलीखरीदनीपड़रहीहै।बिजलीनिगमकेकिसीभीअधिकारीकोफोनलगाओतोकोईभीअधिकारीफोनतकनहींउठातेहैं।आमजनताकीसमस्याकाकोईसमाधाननहींहोरहाहै।

दुर्गेश,अध्यक्ष,आरडब्लूए,ट्यूलिप(सेक्टर-70)

बिजलीसंकटपूरीतरहगहरागयाहै।रातकोकईकईघंटेबिजलीनहींरहतीहै।पूरादिनआफिसमेंकामकरनेवालेलोगरातकोबिजलीकटौतीकेकारणचैनसेसोभीनहींपातेहैं।अधिकारियोंकीलापरवाहीकेकारणबिजलीकीआंखमिचौलीकाखेलचलरहाहै।कबचलीजाएकबआजाएकुछनहींपता।

प्रदीपराही,निवासी,जी-21सोसायटी

By Dyer