बहराइच:विगत40वर्षसेएकऐसाइंटरकालेजसंचालितहोरहाहै,जिसकापंजीकरणहीनहींहै।सबसेचौंकानेवालातथ्यतोयहहैकिराज्यसरकारसाल-दर-सालअनुदानभीदेरहीहै।यहराजफाशहुआहैआरटीआइकेतहतदीगईसूचनामें।सिचाईविभागनेमानाहैकिइसबाबतअभिलेखउपलब्धनहींहै।इसमामलेकीगंभीरताकोदेखतेहुएराज्यसूचनाआयोगनेडीएमकोजांचकेनिर्देशदिएहैं।

ब्लाकमिहींपुरवाकेगिरिजापुरीमेंसिचाईविभागकीओरसेशारदासहायकपरियोजनाइंटरकालेजसंचालितहै।स्कूलकेसंबंधमेंकोतवालीदेहातकेजगतापुरग्रामनिवासीजनसूचनाकार्यकर्तारोशनलालनाविकनेसूचनाएंमांगीथीं।जवाबमेंसरयूनहरखंडप्रथमनानपाराकेसहायकअभियंतानेबतायाकिवर्ष1970मेंस्थापितस्कूलकासंचालनशारदासहायकखंड-छहकीओरसेकियाजारहाथा।

वर्ष1980केपहलेस्कूलटूटगयाथा।इसकापंजीकरणवनवीनीकरणप्रपत्रउपलब्धनहींहैं।इसकेनमिलनेपरआरटीआइकार्यकर्तानेराज्यसूचनाआयोगमेंवाददायरकिया।आयोगनेजिलाधिकारी,डीआइओएससमेतअन्यअधिकारियोंकोसूचनादेनेकेआदेशदिए।इसकेबादभीसूचनानहींउपलब्धकराईगई।

इससंबंधमेंराज्यसूचनाउपायुक्तअजयकुमारउप्रेतीनेडीएमकोएकमाहकेअंदरजांचकरअभिलेखोंकेगायबहोनेऔरपंजीकरणकीसूचनादेनेकेनिर्देशदिएहैं।

दोहजारछात्रअध्ययनरत

कतर्नियाजंगलकेसन्निकटस्थापितइसकालेजमेंक्षेत्रकेकरीबदोहजारछात्र-छात्राएंपंजीकृतहैं।इसस्कूलकापंजीकरणनहोनेकेबादभीसभीयूपीबोर्डपरीक्षाओंमेंशामिलहोतेहैं।इससेनियमोंकोलेकरअन्यविद्यालयोंपरसख्तीकरनेवालेमाध्यमिकशिक्षाविभागपरसवालउठखड़ाहुआहै।

शिक्षकोंकोमिलरहावेतन

माध्यमिकशिक्षाआयोगकीओरसेस्कूलकोअनुदानितभीकररखागयाहै।यहांपरबीतेदिनोंप्रवक्ताभीभेजेगएहैं।सभीकोवेतनभीदियाजारहाहै।

By Duncan