संवादसहयोगी,मालेरकोटला(संगरूर):पंजाबसरकारद्वारामहामारीकेचलतेलोगोंकोराहतदेनेकेलिएअनलाक-2मेंकईप्रकारकीछूटदेदीहै।परन्तुविभिन्ननिजीशैक्षिकसेंटरोंजैसेकोचिगसेंटर,कंप्यूटरसेंटर,ट्यूशनवआइलेट्ससेंटरकीतरफसरकारकोईध्याननहींदेरहीहै।यहविचारटीजीटीएजुकेशनमालेरकोटलाकेएमडीशमशादजॉनीनेव्यक्तकिए।उन्होंनेकहाकिकरीबपांचमहीनेसेबंदपड़ेनिजीशैक्षिकसेंटरमालिकइनकमबंदहोनेसेपरेशानहोरहेहैं।किराएपरलीगईइमारतोंकेकिराएनदेनेपरउन्हेंतालालगानेकोमजबूरहैं।कईसेंटरमालिकपरेशानहोकरसेंटरकासामानघरलेगएहैं,लेकिनसरकारनेसेंटरमालिकोंकोकिसीप्रकारकीमददनहींदीनहीकोईआश्वासनदियाहै।उन्होंनेकहाकिइससंबंधीजल्दहीसेंटरमालिकोंकावफदप्रशासनअधिकारियोंसेमिलेगा,ताकिसेंटरमालिकोंकेपरिवारोंकोभूखेमरनेसेबचायाजासके।लाखोंपरिवारवित्तीयसंकटकेघेरेमेंआचुकेहैं।उन्हेंअपनापरिवारचलानामुश्किलहोचलाहै।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!

By Evans