संवादसहयोगी,गोपेश्वर:चमोलीजिलेकीसीमांतमलारीघाटीकीसुंदरतामेंइनदिनोंचारचांदलगेहुएहैं।घाटीमेंबर्फबारीकेबादयहांकीसुंदरतादेखतेबनरहीहै।पर्यटकभीघाटीकादीदारकरनेकेलिएपहुंचरहेहैं।हालांकिसड़कपरबर्फजमाहोनेकेचलतेमलारीसेआगेबड़ेवाहनोंयाफिरसेना,आइटीबीपीकेवाहनोंसेहीआवाजाहीहोपारहीहै।

चीनसीमासेलगीमलारीघाटीछहमाहबर्फसेलकदकरहतीहै।ग्रीष्मकालमेंघाटीकेदर्जनभरगांवोंमेंभोटियाजनजातिकेलोगनिवासकरतेहैं।लेकिन,शीतकालमेंभारीबर्फबारीकेचलतेयेलोगनीचेउतरकरअन्यगांवोंमेंरहतेहैं।इनदिनोंमलारीघाटीकेगांवसुनसानपड़ेहैं,लेकिनयहांकीवादियांदेखतेबनरहीहैं।चोटियोंकेअलावामलारी,नीती,गमशाली,फरकिया,बाम्पासमेतअन्यगांवोंमेंभीबर्फकीसफेदचादरबिछीहै।यहांबर्फबारीकेबादवादियोंकाआनंदउठानेकेलिएस्थानीयलोगोंकेअलावापर्यटकभीइनवादियोंकीसैरकरनेपहुंचरहेहैं।नीतीगांवकेप्रेम¨सहफोनियाबतातेहैंकिबर्फबारीकेचलतेजनजातिकेलोगशीतकालमेंपलायनकरनीचेचलेजातेहैं।लेकिन,इनदिनोंघाटीमेंपर्यटकोंकीचहलकदमीबनीहुईहै।

By Dodd