बुलंदशहर,जागरणसंवादाता।जिलेमेंमौसमीबीमारियांपैरपसाररहींहैं।घर-घरमेंवायरलऔरबुखारकेमरीजपड़ेहुएहैं।स्वास्थ्यविभागमलेरियाऔरडेंगूकीरोकथामकेलिएतैयारियोंकादावाकररहाहै,लेकिनअस्पतालोंपरलटकेवगंदगीसेअटेपड़ेउपकेंद्रस्वास्थ्यविभागपोलखोलरहेहैं।जबअस्पतालवउपकेंद्रहीस्ट्रेचरपरहैंतोमरीजोंकोउपचारकैसामिलरहाहोगा,इसकाअंदाजाआपलगासकतेहैं।

जिलेमेंमौसमीबीमारियोंकाप्रकोपलगातारबढ़ताजारहाहै।वायरलबुखार,मलेरियातथाडेंगूनेपैरपसारनेशुरूकरदिएहैं,लेकिनस्वास्थ्यविभागबदहालव्यवस्थाओंकेप्रतिगंभीरनहींहै।देहातक्षेत्रमेंघर-घरलोगबीमारहैं,लेकिनअस्पतालोंपरतालेलटकेहुएहैं।अफसरोंकीलापरवाहीसेउपकेंद्रोंकीहालतपहलेसेहीबदतरहै।अस्पतालोंमेंदवाऔरडाक्टरोंकीकमीकेकारणमरीजोंकोउपचारनहींमिलपारहाहै।जिससेझोलाझापोंसेमरीजोंकोउपचारनहींकरानापड़रहाहै।जाड़ौलस्थितप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रपरशनिवारकोतालालटकारहा।देहातक्षेत्रमेंअधिकांशगांवोंमें50फीसदसेअधिकलोगवायरल,बुखारकीचपेटमेंहैं।अस्पतालदवावडाक्टरोंकमीसेजूझरहेहैं।

ऊंचागांवक्षेत्रमेंडेंगूऔरमलेरियाकाप्रकोप

सीएचसीऊंचागांवक्षेत्रकेगांवनगलामदारीपुरमेंघर-घरमेंचारपाईयोंपरमरीजपड़ेहुएहैं।नरसेना,करयारीमेंलगातारमेंलगातारमलेरियावडेंगूकेमरीजमिलरहेहैं।वहींऊंचागांवक्षेत्रमेंस्वास्थ्यउपकेंद्रोंकीहालतसेसबसेज्यादाखराबहैं।

रखरखावकोआनेवालीधनराशिकाबंदरबांट

जिलेमें344स्वास्थ्यउपकेंद्रहैं,जिनमेंसेअधिकांशउपकेंद्रबदहालऔरखंडहरपड़ेहैं।लोगोंकाकहनाहैकिहरसालआनेवालीधनराशिसेअफसरउपकेंद्रयाअस्पतालोंकीसेहतसुधारनेकेबजायअपनीसेहतसुधाररहेहैं।

इनकीसबसेज्यादाहालतबदतर

मवई,रघुनाथपुर,कपसाई,गहनागोवर्धनपुर,सुनपेड़ा,झाझर,ख्वासपुर,टिटोटा,सुलतानपुरबिरौली,जिरौलीसमेतअधिकांशउपकेंद्रबदहालऔरखंडहरपड़ेहुएहैं।

जिलेमेंसरकारीअस्पतालोंपरएकनजर

जिलाअस्पतालवमहिलाअस्पताल,सामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्र-13,ब्लाकप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्र-05,अतिरिक्तप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्र-68,स्वास्थ्यउपकेंद्र-344

अस्पतालोंपरस्टाफनहींपहुंचनेवउपकेंद्रोंकीजांचकराईजाएगी।गांवोंमेंनियमितकैंपआयोजितकराएंजारहेहैं।

डा.विनयकुमारसिंह,सीएमओ

By Farmer