जागरणसंवाददाता,आजमगढ़:पानकीखेतीकोबढ़ावादेनेकेलिएराज्यसरकारपूरीतरहप्रयासरतहै।पहलेपानकीज्यादातरखेतीचौरसियासमुदायकेलोगकरतेथेलेकिनअबपानकीखेतीसेफायदेके²ष्टिगतअन्यवर्गभीआगेआनेलगेहैं।पिछलीबारकेसापेक्षअबकीभीबड़ीतादादमेंकिसानपानकीखेतीकीहै।पानकमलागतमेंज्यादामुनाफादेताहै।लॉकडाउनमेंचलतेपानउत्पादकोंवविक्रेताओंकोआर्थिकक्षतिभीउठानीपड़ी,लेकिनकुछशर्तोंकेसाथप्रदेशसरकारनेकुछशर्तोंकेसाथदुकानेंखोलनेकीअनुमतिदिएजानेसेलोगखुशहैं।

जिलेकेदोब्लाकोंफूलपुरवपवईकेविभिन्नक्षेत्रोंमेंपानकीखेतीकीजातीहै।इसमेंकनेरी,बस्तीचक,गुलर,भोरमऊ,बिलारमऊ,दखिनगांवाआदिशामिलहैं।यहांबांग्ला,कलकतिया,बनारसीवदेशहेरीपानकाउत्पादनहोताहै।उपनिदेशकउद्यानमनोहरसिंहनेबतायाकिपानकीखेतीकेलिएबरेजा(बांसलगाकरऊंचाकरना)मेंरोपाजाताहै।उसीकेऊपरपानकापौधाचढ़जाताहै।पानकीखेतीकेलिएऊंचीभूमिकाहोनाअतिआवश्यकहै।जिलाउद्यानअधिकारीबालकृष्णवर्मानेबतायाकिपानकाउत्पादनजूनमाहकेअंतिमसप्ताहवजुलाईमाहसेमंडीमेंआनाशुरूहोजाताहै।यहलगभगछहमाहमेंतैयारहोताहै।उन्होंनेबतायाकिइसकानिरीक्षणहर15दिनोंमेंकियाजाताहै।ताकिकिसानोंकोइससेसंबंधितदिशा-निर्देशदियाजासके।

By Farmer