मधेपुरा।घरसेदूररहरहेबच्चेसुकूनसेपढ़ाईकरसकेंऔरअपनाभविष्यबनासके,इसउद्देश्यकोलेकरजिलेमेंविभिन्नयोजनाओंकेतहतछात्रावासोंकोबनायागया।सरकारकीओरसेछात्रावासशुरूतोकरदियागया,लेकिनछात्रावासमेंमूलभूतसुविधाओंकीव्यवस्थाभीनहींजासकी।ऐसेमेंछात्रोंकोबिनासुविधाकेहीरहनापड़रहाहै। जिलामुख्यालयमेंतीनछात्रावाससंचालितकिएजारहेहैं।हालातयहहैकिछात्रावासमेंरहरहेछात्रकिसीतरहअपना¨जदगीकाटरहेहैं।मूलभूतसुविधाओंअभावमेंछात्रोंकीपढ़ाईभीठीकढंगसेनहींहोपारहीहै।एककमरामेंचारसेपांचछात्रोंकोरहनापड़रहाहै।

14वर्षबादभीसुविधाओंकाअभाव:

मधेपुरामेंअल्पसंख्यकछात्रावासकाउद्घाटन20जनवरीको2004हुआथा।उद्घाटनके14वर्षबीतजानेकेबादभीइसछात्रावासमेंरहनेवालेछात्रोंकेलिएमूलभूतसुविधाओंकाभारीअभावहै।छात्रावासमेंकुल36कमरोंमेंलगभग80छात्ररहतेहैं।यहांकेछात्रआयरनयुक्तपानीपीनेकोमजबूरहैं।छात्रोंनेबतायाकिकुछदिनपहलेस्वच्छपेयजलकेलिएदोवाटरफिल्टरलगायागयाथा।लेकिनलगानेकेकुछदिनोंकेबादहीयहखराबहोगया।इससेछात्रोंकोशुद्धपेयजलनहींमिलपारहाहै।यहांपरएकसफाईकर्मीकार्यरतहै।छात्रोंनेबतायाकिहॉस्टलकीसफाईभीनियमितरूपसेनहींहोताहै।दो-तीनदिनपरसफाईकर्मीआतेहैं।इसकारणसफाईसहीढंगसेनहींहोपाताहै।खासकरबाथरूमवशौचालयमेंगंदगीपसरारहताहै।

सिर्फनामकाटाटाआयरनहॉस्टल:

टीपीकॉलेजकेअंतर्गतदोछात्रावाससंचालितकिएजारहेहैं।इसमेंएकटाटाआयरनछात्रावासमेंछात्रोंकोरहनेमेंभारीपरेशानियोंकासामनाकरनापड़ताहै।छात्रावासमेंरहनेवालेछात्रोंनेबतायाकिछात्रावासमेंबेडभीउपलब्धनहींहै।छात्रोंकोबाहरसेखरीदकरलानापड़ताहै।हॉस्टलकेसाफ-सफाईकेएकभीसफाईकर्मीहॉस्टलमेंकार्यरतनहींहै।पीनेकेलिएस्वच्छपेयजलकीभीकोईसुविधानहींउपलब्धहै।12कमरोंवालेइसहॉस्टलमेंलगभग25छात्ररहतेहैं।छात्रोंनेबतायाकिकिसीतरह¨जदगीकटरहीहै।

पुस्तकालयभवनमेंपुस्तकउपलब्धनहीं:अंबेडकरछात्रावासमेंछात्रोंकोरहनेकेलिएकुल21कमरेउपलब्धहैं।वर्तमानमें84छात्ररहरहेहैं।बड़ीसंख्यामेंछात्रोंकेरहनेकेबावजूदएकभीसुरक्षागार्डछात्रावासमेंनहींहै।छात्रावासअधीक्षकडॉ.जवाहरपासवाननेबतायाकिनाइटगार्डनहींरहनेसेपरेशानीतोहोतीहै।बहरहालकिसीतरहकार्यकिएजारहेहैं।इसहॉस्टलमेंभीपीनेकेपानीकाकोईसमुचितव्यवस्थाउपलब्धनहींहै।लाइब्रेरीतोहैपरलाइब्रेरीमेंएकभीपुस्तकउपलब्धनहींहै।जिससेछात्रोंकोलाइब्रेरीकाकोईलाभनहींमिलपारहाहै।छात्रावासअधीक्षकनेबतायाकिछात्रोंकेलिए10कंप्यूटरभीउपलब्धहै,लेकिनइसेचलानेकेलिएकंप्यूटरऑपरेटरनहींरहनेसेकंप्यूटरबेकारपड़ाहुआहै।

कहींभीनहींहोरहाकैंटीनकासंचालन:जिलामुख्यालयमेंस्थिततीनोंछात्रावासोंमेंसेएकमेंभीकैंटीनकीसुविधाउपलब्धनहींहै।छात्रोंकोखानाकेलिएअपनाव्यवस्थाअलगसेकरनापड़ताहै।अल्पसंख्यकछात्रावासकेछात्रोंनेबतायाकिचर्चाचलरहीथीकिजनवरीसेकैंटीनकीशुरूआतकीजाएगी।लेकिनअभीतकइसदिशामेंकोईपहलनहींदिखरहीहै।छात्रावासअधीक्षकमु.मुर्तजाअलीनेबतायाकिपरीक्षाकोलेकरकैंटीनशुरूनहींहोपायाथा।इसीमहीनेमेंकैंटीनकीसुविधाछात्रोंकेलिएबहालकरदीजाएगी।उन्होंनेबतायाकिछात्रावासमेंएकसुसज्जितपुस्तकालयउपलब्धहै।एकबड़ासासेमिनारहॉलभीउपलब्धहै।छात्रावासकोऔरबेहतरकरनेकीदिशामेंकार्यकिएजारहेहैं।

By Evans