संवादसूत्र,फाजिल्का:प्रिसिपलप्रदीपकुमारखनगवालकेनेतृत्वमेंसरकारीसीनियरसेकेंडरीस्कूललड़केफाजिल्कामेंसाइंससिटीकपूरथलासेएकमोबाइलबसनेविजिटकिया,जिसकामुख्यउद्देश्यविद्यार्थियोंमेंवैज्ञानिकसोचकोरचनात्मककरनाथा।स्कूलमीडियाइंचार्जसंदीपअनेजानेबतायाकिकक्षाछठीसेदसवींतककेविद्यार्थियोंनेबसविजिटकेदौरानबहुतमनोरंजकऔरज्ञानकेसाथभरपूरविज्ञानकेमाडलदेखेऔरअपनीवैज्ञानिकसोचमेंविस्तारकिया।

इसमौकेनोडलअधिकारीरमणीकजोलीनेबतायाकिबसमेंमानवीयदिलकीबनावट,मानवीयशरीरपरनशेकेप्रभाव,जैसेमाडलोंनेविद्यार्थियोंऔरअध्यापकोंकोबहुतप्रभावितकिया।इसमौकेप्रिसिपलप्रदीपकुमारखनगवालनेबतायाकिशिक्षाविभागकायहप्रयासबहुतहीप्रशंसनीयहैजिसमेंविभागद्वारामोबाइलबसकोविद्यार्थियोंतकपहुंचाकरविज्ञानसंबंधीजानकारीप्रदानकीगईहै।इसकेसाथसभीविद्यार्थियोंकोवअध्यापकोंकोबहुतलाभहुआहै।शिक्षाविभागकोऐसेप्रयासआनेवालेसमयमेंभीकरनेचाहिएं।इसमौकेवाइसप्रिसिपलजोगिंद्रलाल,राकेशजुनेजा,सुशीलग्रोवर,मोहनलाल,राजेशतनेजा,नीरजशर्मा,नेहा,नीना,वीरपालकौर,सुनीतारानीऔरअन्यअध्यापकभीमौजूदथे।कांफीस्कूलमेंमनायाबालदिवससंवादसूत्र,फाजिल्का:मदनगोपालरोडपरस्थितकांफीइंटरनेशनलकान्वेंटस्कूलमेंबालदिवसधूमधामसेमनायागया।इसदौरानयूकेजीकक्षाकेबच्चोंद्वाराकहानीप्रतियोगितामेंहिस्सालियागया।

स्कूलप्रिसिपलसुनीतागुंबरनेबच्चोंकोबतायाकि14नवंबरकादिनभारतकेलिएबेहदखासहोताहै।क्योंकिइसदिनभारतकेपहलेप्रधानमंत्रीपंडितजवाहरलालनेहरूकाजन्महुआथा।उनकीयादमेंइसदिनकोबालदिवसकेरूपमेंमनायाजाताहै।ऐसाइसलिएक्योंकिजवाहरलालनेहरूबच्चोंसेबेहदप्यारकरतेथेऔरबच्चेउन्हेंप्यारसेचाचानेहरूकहकरबुलातेथे।स्कूलकेचेयरमैनगौरवझींझानेबतायाकिउन्हेंश्रद्धांजलिदेनेकेलिएवर्ष1956सेहीउनकेजन्मदिनकोबालदिवसकेरूपमेंमनायाजारहाहै।पंडितनेहरूकेअनुसारआजकेबच्चेहीदेशकेभविष्यहैं।इसलिएउन्हेंप्यारऔरदेखभालकीजरुरतहोतीहैताकिवेअपनेपैरोंपरखड़ेहोसके।इसमौकेप्रतियोगिताओंमेंभागलेनेवालेबच्चोंकोइनामदेकरसम्मानितकियागया।

By Farmer