लोकआस्थाकामहापर्वछठपूजाकोलेकरबासुकीनाथसमेतजरमुंडीमेंछठपूजाकीतैयारीजोरोंपरहै।छठघाटोंकीसाफ-सफाईकोलेकरबासुकीनाथनगरपंचायत,बासुकीनाथमंदिरप्रबंधनसमिति,विभिन्नस्वयंसेवीसंस्थावसंगठन,राजनीतिकदलोंकेसदस्यतैयारीमेंलगेहैं।बाबाबासुकीनाथस्थितपवित्रशिवगंगामेंबासुकीनाथ,जरमुंडी,नावाडीहकेव्रतियोंकेअलावाबड़ीसंख्यामेंजामताड़ा,पाकुड़,भागलपुर,बांका,जमुई,लखीसराय,पूर्णियासेभीव्रतीप्रतिवर्षछठपूजाकरनेकेलिएपहुंचतेहैं।छठव्रतीजानकीदेवी,ललितामाई,यमुनादेवी,रूपादेवी,पूनमदेवी,रीतादेवी,सोनी,बबिता,पार्वतीदेवीनामकमहिलाएंबतातीहैंकिवर्षोंपूर्वभोलेबाबानेउनकीमनवांछितमनोकामनापूरीकरदीथी,इसीलिएपिछलेकईवर्षोंसेयहांकेपवित्रछठघाटपरपूजनकरनेआतीहैं।इसकेअलावाबासुकीनाथनगरपंचायतअंतर्गतरावतबांधएवंबड़ाबांधमेंभीछठपूजाकरनेकेलिएभारीसंख्यामेंछठव्रतीएवंउनकेपरिजनजुटतेहैं।बासुकीनाथनगरपंचायतकेद्वाराभीइनछठघाटोंकीसफाईकार्यकियाजारहाहै

क्याकहतीहैंछठव्रतीमहिलाएं

छठीमैयाकीमहिमासेहीपरिवारकेसभीलोगसुखशांतिमेंहै,मातानेमनकीपुकारसुनलीहै।इसपूजाकीतैयारीमेंघरकेसभीलोगसहयोगकरतेहैं।पूजाकेकईदिनपूर्वसेहीघरकेसभीसदस्यनियमनिष्ठापूर्वकरहतेहैं।

ललितादेवी,छठव्रती

सच्चेमनसेमांगीगईहरएकमुरादपूरीहोतीहै।माताभक्तोंकासदैवकल्याणकरतीहै।पूजाकोलेकरघरमेंपवित्रताकापूराख्यालरखाजाताहै।

ममतादेवी,छठव्रती

पूरेपरिवारकोमाताआरोग्यताप्रदानकरें।संकटसेदूररखेंइसीकामनाकोलेकरप्रत्येकवर्षव्रतकरतीहै।जबतकशारीरिकक्षमतारहेगीनियमितरूपसेइसेपूराकरूंगी।

पुष्पादेवी,छठव्रती

छठपर्वकीतैयारीमहीनाभरपूर्वसेहीकरनाशुरूकरदेतेहैं।पूरेपरिवारकेलोगनिष्ठापूर्वकनियमकापालनकरतेहैं।

कुमुददेवीछठव्रती