रायपुर[मृगेंद्रपांडेय]। छत्तीगसढ़केबीजापुरमेंहुएनक्सलीहमलेनेजंगलोंमेंमोर्चासंभालरहेजवानोंकोअंदरतकझकझोरदियाहै।जवानअबआर-पारकीलड़ाईलड़नेकेमूडमेंआगएहैं।प्रदेशमेंऐसापहलीबारहोरहाहैकिजवानअबइंटरनेटमीडियापरजनतासेसमर्थनकीमांगकररहेहैं।इसकेलिए'आखिरकबतक'कैंपेनशुरूकियाहै।बीजापुरमेंतैनातछत्तीसगढ़पुलिसकेउपाधीक्षक(डीएसपी)अभिषेकसिंहने'आखिरकबतक'कैंपेनशुरूकरतेहुएलिखाहैकिजंगलोंमेंनक्सलअभियानकोहमदेखलेंगे।आपसिर्फहमारासाथदीजिए।यहजवानोंकाजोशहैकितीनअप्रैलकोबीजापुरनक्सलीमुठभेड़में22साथियोंकोखोनेकेबादभीउनकीमांदमेंघुसकरजवाबदेनेकोपूरेजज्बेकेसाथतैयारहैं।

मूलरूपसेउत्तरप्रदेशकेजौनपुरजिलानिवासीऔरबनारसहिंदूविश्वविद्यालय(बीएचयू)केपूर्वछात्रडीएसपीअभिषेकसिंहनेलिखाहै,सिर्फवीरशहीदोंकोश्रद्धांजलिऔरनमनलिखनेसेकामनहींचलेगा।मैंतोअपनीड्यूटीकरूंगाही,पहलेसेऔरअधिकदृढ़ताकेसाथ,लेकिनलिखूंगाभी।लिखूंगाअपनेभाइयोंकेशौर्यकेबारेमें,लिखूंगाउनकीशहादतकेबारेमें..।आपसेबसएकसहयोगचाहिए।आपइंटरनेटमीडियापरइनवीरोंकोजिंदारखिए।शहीदोंकेस्वजनोंकोजोदुखझेलनापड़ाहै,वोकिसीऔरकोनझेलनापड़े,इसकेलिएआपसवालकीजिए।

फेसबुकपरकैंपेनकेसमर्थनमेंहजारोंलोगोंकेसंदेशआचुकेहैं।सूरजनेलिखा,मतभूलिएकिनक्सलियोंकेसफाएमेंसबसेकारगरभूमिकासलवाजुडूमनेनिभाईथी।ग्रामीणोंनेखुदहीछोटे-छोटेहथियारोंकेसाथनक्सलियोंसेमोर्चालेनाशुरूकियाथा।हमसचकोसचनहींकहपारहेहैं।गद्दारकोगद्दारनहींकहपारहेहैं।हमारेजवानएकगिनतीबनकररहगएहैं।कबतकचलेगायहसब..।मजीदअहमदनेलिखाहै-बिल्कुलसर,हमसबआपकेसाथहैं।हमारेजवानोंकीशहादतव्यर्थनहींजानेदेंगे।

नक्सलियोंकादायरासिमटताजारहा:डीजीपी

छत्तीसगढ़केपुलिसमहानिदेशक(डीजीपी)डीएमअवस्थीनेकहाकिहमलावरनक्सलीदेखनेमेंगरीबलगतेहैं,लेकिनइन्हेंमददपहुंचानेवालेदेशद्रोहीहैं।ऐसेलोगोंकोसरकारतोड़रहीहैऔरपुलिसयहांनक्सलियोंसेसीधीलड़ाईकरउन्हेंखत्मकरनेकीकोशिशकररहीहै।नक्सलियोंकेखिलाफआपरेशनहोंगेतोनक्सलीहमलावरहोंगेही।हमलगातारनक्सलियोंकीमांदतकघुसतेजारहेहैं।पिछलेचार-पांचसालमेंकाफीदबावबनाहै।हमउनकेकब्जेसेकाफीइलाकामुक्तकरानेमेंसफलहुएहैं।उनकादायराअबसिमटताजारहाहै।

By Duncan