संवादसहयोगी,कोटद्वार:कोरोनावायरसकोदेखतेहुएभलेहीसरकारने31मार्चतकस्कूलवकॉलेजोंकोबंदकरदियाहो,लेकिननिजीकंपनियोंमेंकामकाजचलरहाहै।ऐसेमेंहोलीकीछुट्टीसमाप्तहोनेकेबादमैदानीक्षेत्रोंसेआएलोगवापसलौटनेलगेहैं।यात्रियोंकीबढ़तीसंख्याकेकारणबसोंमेंसीटकेलिएमारामारीशुरूहोगईहै।

होलीकात्योहारमनानेकेबादलोगवापसअपनीनौकरियोंपरलौटनेलगेहैं।कोटद्वारक्षेत्रसेमैदानीक्षेत्रोंमेंजानेवालीबसेंस्टेशनसेभर-भरकरनिकलरहीहैं।कईघंटेइंतजारकरनेकेबादयात्रियोंकोबसेंमिलरहीहैं।यमकेश्वरनिवासीसुदर्शनरावतनेबतायाकिवहदिल्लीमेंएकनिजीकंपनीमेंकामकरतेहैं।होलीपरपरिवारकेसाथगांवआएथे।कोरोनावायरसकेचलतेबच्चोंकेस्कूलतोबंदहोगए,लेकिनमंगलवारसेउन्हेंअपनेऑफिसजानाहै।बतायाकिगांवदूरहोनेकेकारणबच्चोंकीछुट्टीहोनेकेबादभीउन्हेंसाथलेकरजानापड़रहाहै।वहीं,रिखणीखालनिवासीराजीवनेबतायाकिवहदिल्लीविश्वविद्यालयमेंपढ़ाईकररहेहैं।विश्वविद्यालयबंदहोनेकेबादवहवापसअपनेगांवलौटरहेहैं,लेकिनकोटद्वारसेपहाड़ोंमेंजानेवालीबसोंमेंकाफीभीड़है।

जिनरूटोंपरयात्रियोंकीअधिकसंख्याहै,उनपरअतिरिक्तबसेंचलवायीजारहीहै।यात्रियोंकोकिसीप्रकारकीपरेशानीनहोइसकाविशेषध्यानरखाजारहाहै।..टीकाराम,आरएम,रोडवेजडिपो

By Edwards