सीतापुर:परसेंडीकेप्राथमिकविद्यालयपिहानीपाराकीप्रधानाध्यापिकाएवंग्रामपंचायतपगरोईकीनोडलशिक्षकसंकुलऋचातिवारीकेप्रयासोंसेबच्चोंकीपढ़ाईबाधितहोनेसेबचगई।उनकीकर्मठतावप्रयासोंकाहीपरिणामहैकिबच्चेकोरोनाकालमेंस्कूलबंदहोनेकेबादभीपढ़ाईकरतेरहेऔरआजभीकररहेहैं।कोरोनाकेकारणजिससमयविद्यालयबंदहुएतोबच्चोंकीपढ़ाईपरसंकटमंडरानेलगा।ऑनलाइनकक्षाएंशुरूहुईं,लेकिनजिनबच्चोंकेपासमोबाइलकीकमीथीवहपढ़ाईसेवंचितरहनेलगे।शिक्षाकीमुख्यधारासेसभीबच्चेजुड़ेरहेंइसकेलिएमुहल्लापाठशालाशुरूहुईं।मुहल्लापाठशालाकेमाध्यमसेऋचातिवारीनेप्रत्येकबच्चेकोपढ़ानेकाकामशुरूकिया।ऋचाकीप्रेरणासेमुहल्लापाठशालामेंउनकासहयोगगांवकेहीदोअभिभावकोंवतीनपूर्वछात्रोंनेकिया,जिनकोशिक्षासैनिकबनाया।येलोगप्रतिदिनबच्चोंतकनकेवलसमुचितपाठ्यसामग्रीउपलब्धकरारहेहैंबल्किपढ़ाभीरहेहैं।

यहहैंशिक्षासैनिक

अभिभावकमिश्रीलालवसावित्रीहैं।पूर्वछात्रोंमेंदीप्तियादवकक्षा11कीछात्राहैं,मोनूकक्षादसवअर्पितकक्षा9केछात्रहैं।यहलोगप्रतिदिनबतौरशिक्षासैनिकगांवमेंअलगअलगमुहल्लोंमेंएकत्रहोतेहैंऔरबच्चोंकोपढ़ारहेहैं।सुबहशामलगतीहैंकक्षाएं

गांवमेंअलगअलगस्थानोंपरमुहल्लापाठशालाकेतहतकक्षाएंलगतीहैं।जहांबच्चोंकोनिर्धारितअभिभावकवपूर्वछात्रबच्चोंकोपढ़ातेहैं।अभिभावकदिनमें10से12वपूर्वछात्रदोपहर2सेचारबजेतककक्षाएंलगातेहैं।विद्यालयसेउपलब्धकराईपाठ्यसामग्री

ऋचातिवारीनेबतायाबच्चोंकीपढ़ाईमेंकिसीप्रकारकीबाधानआएइसकेलिएशिक्षासैनिककोपाठ्यसामग्रीचाक,डस्टर,ब्लैकबोर्ड,पुस्तकेंआदिउपलब्धकरादीहैं।इन्हीकेपासउपस्थितिपंजिकाभीहैबच्चोंकीउपस्थितिभीलगारहीहैं।

By Dunn