-450वर्षपूर्वरायसिंहनेबसायाथागांवरायपुरफोटो:30जेएचआर27,28संवादसूत्र,माछरोली:यहांपुरुषहीनहींमहिलाएंभीअपनीअलगपहचानबनाकरदूसरोंकेलिएमिसालपेशकररहीहैं।करीब450वर्षपूर्वबसेगांवरायपुरकीमहिलाएंआजअच्छामुकामहासिलकरकेदूसरोंकोभीआगेबढ़नेकीप्रेरणादेरहीहैं।गांवकीडा.पुनीतागहलावतपशुपालनविभागमेंउपनिदेशकहैऔरफिलहालउनकीड्यूटीगुरुग्राममेंहै।वहींदीक्षागहलावतसुपुत्रीसूबेदारनौसेनामेंअधिकारीकेपदपरहैं।वहींडा.श्वेतासुपुत्रीराकेशकुमारएमबीबीएसहैं।वहींगांवकीबागडोरभीमहिलाकेहाथमेंहैं।गांवकीसरपंचउर्मिलादेवीकोबनायागयाहै।डा.पुनीतागहलावतकोअंतरराष्ट्रीयमहिलादिवसपरप्रेरणादायकमहिलापशुचिकित्सकपुरस्कारसेभीसम्मानितकियागया।महिलाएंसफलहोकरदूसरोंकोभीसफलहोनेकेलिएप्रेरितकररहीहैं।केवलमहिलाएंहीनहींपुरुषोंनेभीसफलताहासिलकरतेहुएपरचमलहराया।

गांवरायपुरकोबसेहुएलगभग450वर्षहोचुकेहैं।ग्रामीणोंकेअनुसारगांवरायपुरकोरायसिंहनामकव्यक्तिनेबसायाथा।बतायाजाताहैकिराजसिंहगांवफरमानासेआकरयहांपररहनेलगेथे।रायसिंहकेनामसेहीगांवकानामरायपुरपड़ा।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिरायसिंहकोयहजमीनइनामकेतौरपरमिलीथी।उससमयरायसिंहकीकाबिलियतकोदेखतेहुएउन्हेंयहजमीनदीगईथी।फिलहालगांवमेंलगभग350परिवारहैऔरलगभग400बीघाजमीनहै।गांवमेंपुरानाशिवमंदिर,बहुतपुरानातालाब,3कुएंजिससेगांववालेपीनेकापानीइस्तेमालकरतेथे।गांवमेंवैसेतोपांचवींकक्षातकस्कूलहैं।इसकेबावजूदभीगांववालेशिक्षितहैं।काफीग्रामीणखेतीबाड़ीकरतेहैं।युवाओंमेंभररहेदेशसेवाकाजज्बा

गांवकीआबादीबेशककमहो,लेकिनदेशकीसेवाकरनेमेंकभीभीपीछेनहींहटा।गांवमेंजन्मेस्वतंत्रतासेनानीहरद्वारीलालवतुलसीरामनेआजादीकीलड़ाईमेंअपनायोगदानदिया।वहींगांवकेसपूतकर्नलराजकुमारगहलावतनेअपनीअलगहीपहचानबनाई।कर्नलराजकुमारगहलावतकीबहादुरीकेचलतेउन्हेंशौर्यचक्रसेनवाजागया।अमनदीपसुपुत्रहवलदारअनिलकुमारमेंनौसेनाअधिकारीहैं।येआजभीयुवाओंकेलिएप्रेरणास्त्रोतबनेहुएहैं।युवाभीसेनाकेलिएपसीनाबहारहेहैं।हरक्षेत्रमेंगांवनेअपनानामकमायाहै।-गांवरायपुरकीसरपंचउर्मिलादेवीनेकहाकिहोनहारबालकवबालिकाएंगांवकानामरोशनकरनेकेलिएदिन-रातमेहनतकरतेहैं।बच्चोंवगांवकाविकासकरनेकेलिएहरसंभवप्रयासकिया।गांवआजअपनीअलगहीपहचानबनाएहुएहै।

By Duncan