नईदिल्ली[धनंजयमिश्रा]। कोरोनासंक्रमणनेजहांलोगोंकेमनमेंखौफपैदाकरदियाहै,तोवहीं कुछऐसेपरिवारहैं,जिन्हाेंनेइसघातकमहामारीकाबेहददिलेरीकेसाथसामना कियाऔरइसेपरास्तकिया।ऐसेहीहैदरपुरगांवमेंएकहीपरिवारके11 सदस्योंनेकोरोनाकोमातदीहै।यहींनहीपरिवारकेघरमेंरहरहे किरायेदारदंपतीभीसंक्रमणमुक्तहोगएहैं।कुलमिलाकरएकहीघरमेंरह रहे13लोगकोरोनापॉजिटिवहुए,लेकिनसभीनेमजबूतइच्छाशक्तिकेसाथन केवलकोरोनाकामुकाबलाकियाबल्किइसेपरास्तभीकिया।

अस्‍पतालमेंनौकरीकरनेकेदौरानहुएसंक्रमित

कोरोनाविजेतापरिवारकेसदस्य28वर्षीयइंदरसरोजसबसेपहलेकोरोना पॉजिटिवहुएथे।दैनिकजागरणसेबातचीतमेंउन्होंनेबतायाकिउनके परिवारमेंमाता,पिता,भाईबहनकोमिलाकर11सदस्यहैं।वहएकअस्पताल मेंनौकरीकरतेहैं।उनकेसंक्रमितहोनेकेबादपरिवारकेबाकीसदस्यभी कोरोनाकीचपेटमेंआगए।यहांतककीकिरायदारदंपतीभीइससंक्रमणसेबच नसके।

मात्र14दिनोंकेक्‍वारंटाइनमेंहुएठीक

पताचलनेकेबादजहांइंदरकाइलाजअस्पतालमेंचलावहींपरिवारकेबाकीसदस्यों कोसुल्तानपुरीस्थितक्वारंटाइनसेंटरमेंरखागया।जहांपर14दिनरहने केबादचिकित्सकोंनेसभीकोघरभेजदियाहै।

मानसिकरूपसेथेमजबूत

इंदरनेबतायाकिइसबीमारीकोपरास्तकरनेकेलिएमानसिकरूपसेमजबूत होनाबहुतजरूरीहै।परिवारकेसभीसदस्यकोरोनाकेचपेटमेंआए,लेकिनहम लोगमानसिकरूपसेमजबूतरहे।चिकित्सकोंकेद्वाराबताएगएदिशा-निर्देशोंकोपालनकिया।उन्होंनेबतायाकिफिलहालपरिवारकेसभीसदस्य स्वस्थहैं।

आर्थिकचुनौतियोंसेजूझरहाहैपरिवार

इंदरनेबतायाकिवहीपरिवारकीआर्थिकजरूरतेंपूरीकरतेथे।उनकेपिता फूलचंदलॉकडाउनसेपहलेमजदूरीकररहेथे।लेकिन,अबवहमजदूरीकरनेकीहालतमेंनहींहै।ऐसेमेंबीतेदोमाहसेपरिवारआर्थिकसमस्याओंसेजूझ रहाहै।

दिल्‍ली-एनसीआरकीखबरोंकोपढ़नेकेलिएयहांकरेंक्‍लिक

By Duncan