IITइंदौरकीटीमनेऐसेकंपाउंडकीखोजकीहै,जिसकीमददसेबनीवैक्सिनसेकोरोनाकेहरवैरिएंटकेअसरकोकमजोरकियाजासकेगा।IITइंदौरकेप्रोफेसरऔरस्टूडेंटकीटीमनेक्लियोकैप्सिडएनप्रोटीनकोपहचानकरसार्सकोव-2सेस्पेशलप्रोटेक्शनकेलिएप्राकृतिकपौधोंकेकंपाउंडकीपहचानकरनेएकरिसर्चकीहै।

टीमनेरिसर्चकेदौरान60सेज्यादाकंपाउंडकीजांचकी।जिसमें3ऐसेकंपाउंडसामनेआएजोएनप्रोटीनपरसबसेज्यादाअसरकारकहैं।खोजेगएतीनोंकंपाउंडकेनामविथेनोलाइडडी,हाइपरिसिनऔरसिलीमारिनहैं।यहरिसर्चबायोसाइंसेसऔरबायोमेडिकलइंजीनियरिंगविभागकेइंफेक्शनबायोइंजीनियरिंगग्रुप(आइबीईजी)केडॉ.हेमचंद्रझाऔरकम्प्युटेशनलबायो-फिजिक्सग्रुपकेडॉ.परिमलकरकेनिर्देशनमेंस्टूडेंटधर्मेंद्रकश्यपऔरराजर्षिरायनेकीहै।

औषधीयपौधोंकेअर्कसेउपचार

डॉ.हेमचंद्रझानेबतायाकिऔषधीयपौधोंकाउपयोगपारंपरिकरूपसेकईदशकोंसेविभिन्नरोगोंकीरोकथामऔरउपचारकेलिएकियाजातारहाहै।पिछलेअध्ययनमेंहमनेस्पाइक,ऐनवलपऔरमैम्ब्रेनप्रोटीनमेंउच्चउत्परिवर्तनदरकीसूचनादीथी।इसबीचक्लियोकैप्सिडएनप्रोटीनमेंम्यूटेशनदर,प्रकोपकेबादसेबहुतकमहै।इसलिएऔषधीयपौधोंकेअर्ककेमाध्यमसेउपचारकेलिएएनप्रोटीनकेस्ट्रक्चरकोरोकनाएकअनूठातरीकाहोसकताहै।

हाईरेस्पिरेटरीक्राइसिससिंड्रोमकोरोकनेमेंमददगार

एनप्रोटीनमेंकमम्यूटेशनऔरविथेनोलाइडडी,हाइपरिसिनऔरसिलीमारिनकेसाथहाईलीकम्प्लसिवइंटिमेसीकेकारणपहचानेगएयौगिकलंबीअवधिकेलिएप्रभावीहोसकतेहैं।महत्वपूर्णरूपसेसिलीमारिनडायग्नोस्टिकपरीक्षणोंकेदूसरेचरणमेंहैऔरहाईरेस्पिरेटरीक्राइसिससिंड्रोमकोरोकनेकेलिएभीजानाजाताहै।

प्रोटीनपरपहलेभीहोचुकेहैंकईशोध

यहप्रोजेक्टभारतसरकारकेडिपार्टमेंटआफसाइंसएंडटेक्नोलॉजीकीवित्तीयसहायतासेपूराकियागया।IITइंदौरकेपीआरओसुनीलकुमारकाकहनाहैकिसंस्थानकेसभीविभागोंमेंशोधकार्यहोतेरहतेहैं।इसमेंसेकईशोधभारतसरकारकेसाथकिएजातेहैं।इसकेपहलेभीप्रोटीनपरविभिन्नतरहकेशोधसंस्थानकेप्रोफेसरकरचुकेहैं।

By Duffy