संवादसहयोगी,जोगेंद्रनगर:जोगेंद्रनगरकॉलेजमेंनएसत्रमेंकक्षाओंशुरूहोतेहीबदहालव्यवस्थाविद्यार्थियोंकेलिएपरेशानियोंकासबबबनचुकीहै।महाविद्यालयकेमुख्यभवनपरबिखरेपड़ेकबाड़औरइस्तेमालमेंनलाएजानेवालेडेस्कविद्यार्थियोंकामुंहचिढ़ारहेहैं।मुख्यभवनमेंभीइधर-उधरबिखरासामानमहाविद्यालयकीसुंदरताकोबट्टालगारहाहै।अव्यवस्थाकायहआलममहाविद्यालयप्रबंधनकेपुख्ताप्रबंधोंकीपोलखोलरहाहै।इससेपहलेमहाविद्यालयमेंटपकतीछतोंनेभीविद्यार्थियोंकोदीजानेवालीसुविधाओंकीपोलखोलीथीऔरअबफिरमहाविद्यालयकेशैक्षणिकभवनमेंबिखरेसामाननेविद्यार्थियोंकीसुविधाओंपरसवालउठाएहैं।1997मेंअस्थायीतौरपरशुरूहुएमहाविद्यालयकोजब2000मेंराजकीयमहाविद्यालयकादर्जामिलातोउसदौरानभवनमेंकक्षाएंशुरूहुई।समयकेसाथमहाविद्यालयमेंविद्यार्थियोंकीसंख्यामेंइजाफाहुआ,लेकिनशैक्षणिकभवनकाविस्तारनहोनेकेकारणइनदिनोंमहाविद्यालयमेंशिक्षाग्रहणकररहेविद्यार्थियोंकेलिएकक्षाचलानेकेलिएकमरेकमपड़रहेहैं।

गतवर्षभीमहाविद्यालयमेंक्षमतासेअधिककक्षाएंकमरोंमेंचलानीपड़ीथी।कुछकमरोंकोतोप्रयोगशालाओंकेलिएइस्तेमालमेंलानापड़ा।इसकारणविद्यार्थियोंकीसमस्याओंऔरअधिकबढ़गई।इसवर्षभीमहाविद्यालयमेंअभीतककरीब22सौविद्यार्थियोंनेदाखिलालियाहैऔरदाखिलेबढ़नेकीभीउम्मीदहैऐसेमेंविद्यार्थियोंकोइसवर्षभीमूलभूतसुविधाओंकादंशझेलनापड़सकताहै।कॉलेजमेंप्राध्यापकोंकाभीटोटाबनाहुआहै।प्राध्यापकोंकेपदरिक्तचलरहेहैं।मजबूरनपीटीएपरप्राध्यापकोंकीपूर्तिकरविद्यार्थियोंकोशिक्षादेनेकोमहाविद्यालयप्रबंधनमजबूरहै।लचरप्रबंधनपरछात्रसंगठनोंनेउग्रआंदोलनकीभीचेतावनीदीहै।

इस्तेमालमेंनलाएजानेवालेडेस्कहीभवनकेइर्दगिर्दरखेगएहैं।अगरइससेविद्यार्थियोंकोकोईसमस्यापेशआरहीहैतोअविलंबकार्रवाईअमलमेंलाईजाएगी।महाविद्यालयमेंकमरोंकीकमीकेबारेमेंविश्वविद्यालयमहाप्रबंधनसेलगातारपत्राचारकियाजारहाहै।रिक्तचलरहेपदोंकीभीपूर्तिजल्दकीजाएगी।

-डॉ.हरीशअवस्थी,प्राचार्यराजकीयमहाविद्यालयजोगेंद्रनगर।

By Dodd