सुलतानपुर:टिड्डीदलकेआनेकीआशंकासेकिसानसहमगएहैं।उनकेफसलोंपरवहहमलानकरसकें,इसलिएअन्नदाताहरसंभवजतनकररहेहैं।कईकिसानोंनेबाकायदाखेतमेंहीमचानबनालिए।कीड़ोंकोभगानेकेलिएवहींढोल,मजीरावथाल,डब्बाआदिइकट्ठाकरलिएहैं।उनकीयहविधादेखदूसरेकिसानभीउसेअपनारहेहैं।

प्रशासनिकअफसरोंकेसुझावोंकोअमलमेंलानेकीपूरीकोशिशमेंकिसानजुटगएहैं।अधिकारीभीमोबाइलपरमैसेजभेजकरकिसानोंकोअपनेखेतोंकीरखवालीकरनेकेप्रतिजागरूककररहेहैं।विकासक्षेत्रकेधनजईगांवमेंशिवकुमारसिंहनेकरीबएकहेक्टेयरमेंगन्नेकीखेतीकिएहैं।मोबाइलपरमैसेजदेखकरवहडरगए।फौरनअपनीफसलकोबचानेकेलिएखेतमेंमचानबनालिए।फसलकीसुरक्षामेंजुटगए।ताकिउनकीमेहनतकीकमाईपरपानीफिरसके।

इनकिसानोंनेभीबनायामचान

हृदयरामवर्मानेकरीबचारबीघेमेंमेंथाआयलकीखेतीकियाहै।वहमचानलगाकरखेतोंकीदेखभालकररहेहैं।संतोषसिंहनेकरीबछहबीघेमेंगन्नेकीफसलकीबुआईकियाहैवहभीयहीविधिअपनारहेहैं।रामकुमार,सतीश,मेराजऔरशिवनरायनकहतेहैंकिउन्होंनेखेतोंमेंहीढोल,नगाड़े,थालियांवडब्बेआदिकीव्यवस्थाकररखीहै।जिससेटिड्डीदलखेतोंपरहमलाकरेतोउन्हेंभगायाजासके।

By Doyle