जागरणसंवाददाता,कानपुरदेहात:होलीकोलेकरबाजारमेंरंग,अबीरवगुलालकीदुकानेंसजगईहैं।ग्राहकोंकोलुभानेकेलिएदुकानदारोंनेकार्टूनपिचकारीकेसाथहीस्टीलवपीतलकीपिचकारीभीसजारखीहैं।ग्राहकोंकीचायनीजपिचकारीसेदूरीकोदेखतेहुएइसबारदुकानदारोंनेइसेदुकानमेंनहींरखाहै।

होलीकेत्योहारकोदेखतेहुएअकबरपुर,रूरा,शिवली,रनियां,डेरापुर,झींझक,पुखरायांसहितजिलेकेअन्यस्थानोंपरबाजारसजगईहै।अबीरगुलालकेसाथहीदुकानदारहर्बलरंगदुकानोंमेंसजारखेंहैं।त्वचाकोनुकसानपहुंचानेवालेसिथेटिकरंगोंसेग्राहकदूरीबनाएहैं।वहींग्राहकोंकीपसंदकोदेखतेहुएदुकानदारोंनेहर्बलरंगोंकोप्राथमिकतादेरहेहैं।अकबरपुरकस्बामेंदुकानसजाएरामवीरबतातेहैंकिबच्चोंकेलिएडोरेमॉन,पोकेमॉन,छोटाभीमनामसेकार्टूनपिचकारीलेकरआएहैं।इनकेदाम50सेलेकर150रुपयेतकहैं।हालांकिअभीग्राहकोंकीसंख्याकमहै,लेकिनबच्चेकार्टूनपिचकारीकोज्यादापसंदकररहेहैं।वहींअबीरवगुलालकेसाथहीहर्बलरंगग्राहकोंकीपहलीपसंदबनेहुएहैं।जोदुकानदारपुरानामालबिक्रीकररहेहैंउन्हींकेपासचायनीजपिचकारीमिलरहीहै।इसकेसाथहीदुकानोंमेंमुखौटोंकीबिक्रीभीहोरहीहै।

By Farrell