राज्यब्यूरो,नईदिल्ली।आपविधायकआतिशीनेसोमवारकोबतायाकिदिल्लीमें45वर्षसेअधिकउम्रकीश्रेणीकेलोगोंकेलिएलिएवाक-इनवैक्सीनेशनकीसुविधाशुरूकीगईहै।दिल्लीके79सरकारीस्कूलोंमें93केंद्रोंपरयहसुविधाशुरूकीगईहै।इनकेंद्रोंपर45वर्षसेअधिकउम्रकेलोगटीकालगवानेसीधेपहुंचसकतेहैं।दिल्लीमेंकरीब57लाखलोगइसश्रेणीमेंआतेहैं,जिनमेंसे22लाखआनलाइनरजिस्ट्रेशनकेजरियेवैक्सीनलगवाचुकेहैं।आतिशीनेबतायाकिदिल्लीमें16मईको90,832लोगोंकोवैक्सीनकीडोजलगाईगईहैं।ू

दिल्लीके45.81लाखलोगोंकोहुआवैक्सीनेशन

आतिशीनेबतायाकिदिल्लीमेंअभीतक45लाख81हजार752लोगोंकोवैक्सीनलगाईजाचुकीहै,जिनमेंसे10लाख57हजार950लोगोंकोदोनोंडोजलगाईजाचुकीहैं।45वर्षसेअधिकउम्रकीश्रेणीमेंअभीतककुल44लाख94हजार250डोजमिलीहैं,जिसमेंसेसोमवारसुबहतक42लाख690डोजलगाईजाचुकीहैं।45वर्षसेअधिकउम्रकेलोगों,फ्रंटलाइनवर्करऔरहेल्थकेयरवर्करकेलिएकोविशील्डकापांचदिनऔरकोवैक्सीनकाएकदिनसेभीकमसमयकास्टाकबचाहै।

उन्होंनेबतायाकि18से44वर्षकीश्रेणीकेलिएदिल्लीकोकुलआठलाख17हजार690डोजमिलीहैं,जिनमेंसेपांचलाख85हजारछहसौइस्तेमालहोचुकीहैंऔर2.32लाखबचीहैं।इसश्रेणीमेंकोविशील्डकाचारदिनकेलिएपर्याप्तकास्टाकमौजूदहै,हालांकिकोवैक्सीनखत्महोचुकीहै।

20अप्रैलसेमईकेशुरुआतीकुछदिनोंकेबीचकोरोनाकेमामलेज्यादाआएथे।इसवजहसे30अप्रैलकोसक्रियमरीजोंकीसंख्याएकलाखकेकरीबपहुंचगईथी।तबअस्पतालोंमेंकोरोनाकेइलाजकेलिएकुल20,938बेडआरक्षितथे।जिसमेंसे1199बेडखालीतोथेलेकिनआक्सीजनवआइसीयूबेडकीकमीकेकारणमरीजएकअस्पतालसेदूसरेअस्पतालभटकनेऔरघरमेंहीआक्सीजनसिलेंडरकेसपोर्टपररहनेकोमजबूरथे।फिलहालस्थितियहहैकितीनमईकीतुलनामेंअस्पतालोंमें3400मरीजकमहुएहैं।वहीं,6094बेडबढ़ेहैं।जिसमें4904एकसप्ताहमेंबढ़ेहैं।इसलिएअस्पतालोंमेंकुल27,571बेडउपलब्धहोगएहैं।जिसमें10,829बेडअभीखालीहै।इससेआक्सीजनबेडकीउपलब्धताबढ़ीहै।

यदिकोरोनाकीसंक्रमणदरकमहोनेकासिलसिलाजारीरहातोअगलेकुछदिनोंमेंअस्पतालोंमेंमरीजोंकादबावऔरभीकमहोगा।ऐसेमेंअस्पतालोंवअस्थायीकोविडअस्पतालोंमेंबेडबढ़नेसेकोरोनाकीतीसरीलहरआनेपरभीमरीजोंकेइलाजमेंफायदाहोगा।730आइसीयूबेडखालीअस्पतालोंमेंअभी730आइसीयूबेडभीखालीहै।जिसमेंसे427आइसीयूबेडअस्थायीरूपसेबनेकोविडअस्पतालोंमेंखालीहै।इससेजरूरतमंदमरीजोंकेलिएआइसीयूबेडकीउपलब्धताबढ़ीहै।हालांकि,110अस्पतालोंकेआइसीयूमेंअबभीबेडखालीनहींहै,जिसमेंज्यादातरनिजीबड़ेअस्पतालशामिलहै।इसवजहसेनिजीअस्पतालोंमेंआइसीयूबेडकीकमीबरकरारहै।

By Finch