नईदिल्ली,जागरणसंवाददाता।फेजतीनकेमेट्रोस्टेशनोंकीतरहहीपुरानेकारिडोर(फेजएकवफेज2)केस्टेशनभीएलईडीलाइटसेजगमगहोनेलगेहैं।इसकेलिएपुरानेमेट्रोकारिडोरके70सेअधिकमेट्रोस्टेशनोंसहित155जगहोंपरपारंपरिकलाइटबदलकरएलईडीलाइटलगाईजारहीहैं।पुरानीलाइटकोबदलकरकरीबएकलाखएलईडीलाइटलगाईभीजाचुकीहैं।अक्टूबरकेअंततक35हजारअतिरिक्तएलईडीलाइटभीलगाईजाएंगी।दिल्लीमेट्रोरेलनिगम(डीएमआरसी)काकहनाहैकिनईएलईडीलाइटलगाएजानेसेबिजलीकीबचतहोगी।

डीएमआरसीकेप्रवक्ताअनुजदयालनेकहाकिएलईडीलाइटलगाएजानेसेयात्रीस्टेशनोंपरबेहतरप्रकाशव्यवस्थाकाअनुभवकरपाएंगे।वहींबिजलीकीखपतकमहोनेसेखर्चभीबचेगा।यहीवजहहैकिपुरानेकारिडोरकेमेट्रोस्टेशनों,डिपो,पार्किंगसहित155स्थानोंपरलाइटबदलनेकाअभियानशुरूकियाजाचुकाहै।इसका75फीसदकामपूराहोगयाहै।शेष25फीसदकामभीअक्टूबरमेंपूराकरलियाजाएगा।

फेजएकमेंरेड,यलोवब्लूलाइनके65किलोमीटरनेटवर्ककानिर्माणहुआथा,जिसपर59मेट्रोस्टेशनहैं।वहींफेजदोमेंदिल्ली-एनसीआरमेंमेट्रोके124.90किलोमीटरनेटवर्ककानिर्माणहुआ,जिसपर85स्टेशनहै।इसकेतहतरेड,यलोवब्लूलाइनकेविस्तारकेअलावातीननएकारिडोरबनाएगएथे,जिसमेंग्रीनलाइन(कीर्तिनगर-इंद्रलोक-मुंडका),वायलेटलाइन(केंद्रीयसचिवाल-बदरपुर)वएयरपोर्टएक्सप्रेसलाइन(नईदिल्ली-एयरपोर्ट-द्वारकासेक्टर21)शामिलहैं।

इसकारिडोरकेस्टेशनोंपरअत्यधिकचमकीलेबल्ब,फ्लोरोसेंटलैंपवसीएफएललाइटलगाईगईथीं।इससेबिजलीकीखपतअधिकहोतीथी।इसकेअलावायेलाइटअपनी10सालकीअवधिपूरीकरचुकीहैं।इसलिएडीएमआरसीनेइसेबदलनेकाकामशुरूकियाहै।एलईडीलाइटसस्तीभीहोतीहैं।डीएमआरसीकाकहनाहैकिएलईडीलाइटलगनेकेबादबिजलीबिलपरखर्चआधारहजाएगा।इसलिएदोसालोंमेंइनलाइटकोलगानेकीपूरीलागतवसूलहोजाएगी।एलईडीऔसतन50हजारघंटेयाउससेअधिकसमयतकजलतीरहतीहैं।इसतरहयहपारंपरिकलाइटोंकीतुलनामें40गुनाअधिकसमयतकठीकरहतीहैं।

By Field